फ़िल्म इंडस्ट्री में हर किसी को खुश रखना मुश्किल: तापसी पन्नू

  • 10 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट SPICE PR
Image caption 'नाम शबाना' 2015 की अक्षय कुमार की फ़िल्म 'बेबी' की प्रीक्वल है

'पिंक' फ़िल्म में अमिताभ बच्चन के साथ अपने दमदार अभिनय के लिए सराहना हासिल करने वाली तापसी पन्नू ने उन नौजवानों के लिए संदेश दिया है जो आतंकवाद की तरफ़ आकर्षित हो रहे हैं.

अपनी आगामी फ़िल्म 'नाम शबाना' के लिए बीबीसी से रूबरू हुई तापसी कहती हैं, "आज की युवा पीढ़ी गर्म खून की है. वो अपनी ज़िन्दगी के सभी फैसले खुद ही लेना चाहती है पर उन्हें अपनी ज़िन्दगी में एक लक्ष्य बनाए रखने की ज़रूरत है जिस पर वो काम कर सकें और ज़िन्दगी को एक सही राह दे सकें."

हाल ही में 'कॉफ़ी विद करण' में आई कंगना रनौत ने करण जौहर को 'भाई-भतीजावाद' का कर्ता-धर्ता बताया था.

बेंगलुरु में जो हुआ वो शर्मनाक था :आमिर

'लड़का हो या लड़की, वर्जिनिटी निजी मामला है'

इमेज कॉपीरइट SPICE PR

अपने शो में शांति बरकरार रखते हुए करण जौहर ने कुछ दिन पहले कंगना की बात को ख़ारिज करते हुए कहा था कि अगर कंगना को इतनी ही तकलीफ है तो वो फ़िल्म इंडस्ट्री को छोड़ के जा सकती हैं. इस बात पर सोशल मीडिया में विवाद छिड़ गया है.

तापसी ने करण जौहर और कंगना रनौत के मुद्दे पर अपनी राय देते हुए कहा,"ये खुली बहस है. दोनों ने अपने दिल की बात कह दी. अब जनता-जनार्दन पर निर्भर करता है कि वो किसका पक्ष ले या ना ले."

तापसी के मुताबिक किसी को भी बिना डरे अपने दिल की बात समझदारी से सामने रखनी चाहिए, पर उसी बात पर पलटवार के लिए भी आपको तैयार रहने की ज़रूरत है.

तापसी ने साफ़ किया की फ़िल्म इंडस्ट्री में हर किसी को अपनी बात रखने की आज़ादी है पर हर किसी को इंडस्ट्री में खुश नहीं रखा जा सकता और कोई ना कोई बुरा मान ही जाता है.

ज़्यादा तारीफ़ से घबरा जाता हूं: अमिताभ

करण तुम अपनी बेटी को हर कार्ड देना: कंगना

इमेज कॉपीरइट SPICE PR

तापसी मानती हैं कि अब अभिनेत्रियों के सर से उम्र का बोझ हट रहा है.

तापसी के मुताबिक अगर आप इंडस्ट्री की शीर्ष अभिनेत्रियों में से एक हैं तो आपको लंबे समय तक अच्छे किरदार मिलेंगे और फ़िलहाल तापसी की कोशिश है कि वो बॉलीवुड की टॉप हीरोइन बने.

शिवम् नायर द्वारा निर्देशित 'नाम शबाना' 2015 की अक्षय कुमार की फ़िल्म 'बेबी' की प्रीक्वल है. 31 मार्च को रिलीज़ होने वाली फ़िल्म 'नाम शबाना' में अक्षय कुमार, अनुपम खेर भी अहम भूमिकाओं में दिखेंगे.

इंटरनेट पर ट्रोल करने वाले हैं बुजदिल-अनुष्का

कंगना के पीड़ित कार्ड से थक चुका हूं: करण

एक करोड़ कमाने वाली पहली भारतीय फ़िल्म

'मेरी मां ने ज़्यादा संघर्ष किया'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)