'पद्मावती' के सेट में लगाई आग, जलकर हुआ खाक

फ़िल्म पद्मावती को लेकर निर्देशक संजय लीला भंसाली की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही.

महाराष्ट्र के कोल्हापुर के मसई पठार इलाके में लगे 'पद्मावती' के सेट पर इस बार कुछ अज्ञात लोगों ने आग लगा दी है, जिसमें पूरा सेट जलकर ख़ाक हो गया.

नज़रिया- 'इसलिए हमारे इतिहास का हिस्सा है पद्मावती'

नज़रिया: क्या इतिहास में कोई पद्मावती थी भी?

ख़बर है कि ये हमला कोल्हापुर में लोगों के एक अज्ञात समूह ने किया है. हमला करने वालों ने सबसे पहले सेट पर शूटिंग के सामान की तोड़-फोड़ की और उसके बाद पेट्रोल बम का इस्तेमाल कर सेट पर आग लगा दी.

हालांकि इस मामले में भंसाली प्रोडक्शन ने अब तक कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई है. लेकिन कोल्हापुर पुलिस ने मामला दर्ज कर अभियुक्तों की तलाश शुरू कर दी है.

पद्मावती पर पहले भी हुआ विवाद

इमेज कॉपीरइट Twitter

गौरतलब है कि जनवरी में जयपुर में लगाए गए 'पद्मावती' के सेट पर राजपूत करणी सेना के लोगों ने जमकर तोड़-फोड़ की थी और फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली के साथ हाथापाई भी की थी, जिसके बाद भंसाली ने जयपुर में फिल्म की शूटिंग रद्द कर दी थी.

कौन है 'पद्मावती' का विरोध कर रही करणी सेना?

इसके बाद 'पद्मावती' की शूटिंग के लिए महाराष्ट्र के कोल्हापुर के मसई पठार इलाके को चुना गया था.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़, "मंगलवार रात करीब दो बजे कुछ लोगों का एक समूह 'पद्मावती' के सेट पर पहुंचा. पहले उन लोगों ने सेट पर मौजूद शूटिंग के सामान की तोड़-फोड़ की और बाद में आग लगा दी. इस हंगामे के दौरान सेट पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों से मारपीट भी की गई.

महाराष्ट्र के सांस्कृतिक मंत्री विनोद तावड़े ने इस हमले को लेकर बयान जारी किया है.

तावड़े के मुताबिक़, "संजय लीला भंसाली की फ़िल्में इतिहास पर आधारित होती है. ऐसी फिल्मों को लेकर समाज में लोगों की अलग-अलग राय होती है. इसलिए दोनों पक्षों को बैठकर आपस में विवाद सुलझाना चाहिए. फ़िल्म निर्माताओं को ऐतिहासिक फिल्मों के निर्माण से पहले तथ्यों को अच्छी तरह परख लेना चाहिए, ताकि विवादों की गुंजाईश ही ना रहे."

आख़िर क्या है विवाद

इमेज कॉपीरइट NARAYAN BARETH

'पद्मावती' का सारा विवाद रानी पद्मावती और अल्लाउद्दीन खिलजी के प्रसंगों को लेकर है.

वो 'शीशा' तोड़ा जिससे ख़िलजी ने किया था पद्मावती का दीदार

राजस्थान के करणी सेना सहित कुछ और संगठनों का आरोप है कि भंसाली अल्लाउद्दीन खिलजी के साथ रानी पद्मिनी के प्रेम संबंधों पर फिल्म बनाकर राजपूतों की भावना को चोट पहुंचा रहे हैं.

इससे पहले करणी सेना ने भंसाली को धमकी देते हुए कहा था कि इस फिल्म की शूटिंग जहां भी होगी इसमें गतिरोध पैदा किया जाएगा.

सेना के इस धमकी के बाद भंसाली और करणी सेना के बीच कुछ समझौते की भी खबर आई थी. इस नई घटना से लगता है कि मामला अभी भी शांत नहीं हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे