फ़िल्में छोड़ सकता हूं, पगड़ी नहीं: दिलजीत दोसांझ

  • 27 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट Phantom Films

हाल में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'फिलौरी' जिसमें नज़र आए अनुष्का शर्मा, पंजाबी अभिनेता दिलजीत दोसांझ और फ़िल्म 'लाइफ़ ऑफ पाई' में नज़र आए सूरज शर्मा.

दिलजीत ने हिन्दी फ़िल्मों मे कदम रखा 'उड़ता पंजाब' के साथ. 'फिलौरी' दिलजीत की दूसरी हिन्दी फ़िल्म है . पंजाबी फ़िल्मों में इनकी शुरुआत बड़ी दिलचस्प रही.

अब तक वो 'लायन ऑफ पंजाब', 'जिन्हें मेरा दिल लुटेया' और 'जट्ट एंड जूलिएट' जैसी फ़िल्मों में नज़र आए हैं.

दिलजीत ने बताया कि एक बार एक फ़िल्मेकर ने उन्हें कहा था कि पगड़ी वाले कलाकार नहीं चलेंगे.

दिलजीत ने बीबीसी से कहा, "मेरी पहली फ़िल्म बुरी तरह पिट गई तो फ़िल्म निर्माता ने कहा कि बेटा पगड़ी वाले अभिनेता नहीं चलते. तुमको लोग पसंद नही करेंगे. मैंने सोचा अगर ऐसा है तो कोई बात नहीं, मैं फ़िल्म नहीं करूँगा. लेकिन फिर जब मेरी दूसरी फ़िल्म आई तो ज़बरदस्त हिट हुई, तो वही बात ग़लत साबित हो गई."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
बीबीसी न्यूज़मेकर्स

दिलजीत ने कहा, "जब पहला विश्वयुद्ध हुआ था तब कुछ सरदार फ़ौजी को बोला गया कि आपको तोप की वजह से शायद पग उतारनी पड़ेगी, तो उन्होंने कहा था कि जान देंगे पर पगड़ी नहीं उतारेंगे. मैं एक रोल के लिए अपने आप को नहीं बदलूँगा. काम मिले ना मिले. फ़िल्मों के लिए पगड़ी पहनना नहीं छोड़ सकता."

दिलजीत गायक भी हैं . यो यो हनी सिंग के साथ भी ये बहुत से गाने गा चुके हैं . फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' का गाना - 'इक कुड़ी' दिलजीत ने गाया. 'पटियाला पेग' और 'पंगा' इनके वो गाने हैं जो लोकप्रिय हुए.

अनुष्का के साथ काम करने का अनुभव इनके लिए काफ़ी खास रहा. वो कहते हैं, ''अनुष्का एक बहतरीन कलाकार हैं. मैं भी एक प्रोडक्शन कंपनी खोलना चाहता हूँ, लेकिन वो तो अभी से फिल्म निर्माता बन गई हैं ."

दिलजीत ने हिन्दी फ़िल्मों में कदम रखा 'उड़ता पंजाब' के साथ. वहीं सूरज शर्मा की पहली फ़िल्म थी 'लाइफ़ ऑफ पाई'. फ़िल्म 'लाइफ़ ऑफ पाई' के निर्देशक हैं ऑस्कर जीत चुके ऐंग ली.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)