वयस्कों के लिए रिलीज़ होगी 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का'

लिपस्टिक अंडर माई बुर्का इमेज कॉपीरइट JIGNESH PANCHAL

रिलीज से पहले विवादों में आई बॉलीवुड फ़िल्म 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' को आखिरकार सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिल गई है.

केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड ने अपील किए जाने के बाद हिंदी फ़िल्म 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' को शर्तों के साथ पास किया है.

इससे पहले सेंसर बोर्ड ने फिल्म को ज्यादा महिला केंद्रित, सेक्शुअल दृश्यों और कथित अभद्र भाषा के कारण रिलीज़ सर्टिफिकेट देने से इनकार किया गया था.

इस फिल्म की कहानी एक छोटे से शहर की चार महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमती है.

'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' से क्या मुश्किल?

'दर्शक जानते है कि उन्हें क्या देखना है,क्या नहीं'

सेक्स की सेल्फ़ी वाली फ़िल्म पर निहलानी के तर्क

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
क्यों विवादों में घिरी फ़िल्म 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्क़ा'?

सेंसर बोर्ड ने 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' को एडल्ट सर्टिफिकेट यानी व्यस्कों के लिए प्रमाणपत्र दिया है और साथ ही फिल्म से कुछ दृश्य हटाने के लिए भी कहा है.

कोंकणा सेन शर्मा और रत्ना पाठक शाह जैसे सितारों से सजी 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' का कुछ महीनों पहले टोक्यो में वर्ल्ड प्रीमियर किया गया था.

दुनिया भर के कई फिल्म समारोहों में 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' ने कई अवॉर्ड जीते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे