शाहरुख़ का टेड टॉक: 'दुनिया मुझे बेस्ट लवर मानती है पर मैं हूँ नहीं'

  • 12 मई 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शाहरुख़ खान

"प्यार ही है जो आपको चलायमान रखता है और नाकाम होने से बचाता है."

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ ख़ान ने ये बात मशहूर 'टेड टॉक' शो में कही. 17 मिनट के संबोधन में उन्होंने प्यार और इंसानियत पर अपनी बात रखी. इसके लिए बीच-बीच में उन्होंने अपनी ज़िंदगी की घटनाओं का बख़ूबी इस्तेमाल किया.

ये टेड टॉक कनाडा के वैनकूवर कनवेंशन सेंटर में हुई और अब इसका वीडियो रिलीज़ किया गया है. इस शो में शाहरुख़ ने जो कहा, उसके चुनिंदा हिस्से आपको पढ़वाते हैं:

मैं और इंसानियत

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एक टीवी शो में शाहरुख़

मैं 51 साल का फिल्मी सितारा हूं और मैं अब तक 'बोटॉक्स' का इस्तेमाल नहीं करता. लेकिन जैसा आपने देखा है, मैं अपनी फिल्मों में 21 साल के लड़के की तरह बर्ताव करता हूं. मैं सपने बेचता हूं और भारत में उन लाखों लोगों का प्यार पाता हूं, जिन्होंने मान लिया है कि मैं दुनिया का सर्वश्रेष्ठ प्रेमी हूं.

अगर आप किसी को न बताएं, तो मैं आपको बताता हूं कि मैं वो नहीं हूं, लेकिन इस मान्यता को मैंने कभी ख़ुद से दूर नहीं जाने दिया.

यहां बहुत सारे लोग हैं, जिन्होंने मेरा काम नहीं देखा है और मैं आपके लिए दुखी हूं. (ठहाकों के बीच).

पढ़ें: शाहरुख़ की ज़िंदगी का सबसे 'दुखद' दिन

जब पिता की मौत हुई

जब मेरे पिता की मौत हुई, मैं 14 साल का था. मैंने उनकी लाश गाड़ी की पिछली सीट पर रखी. मां मेरे साथ थीं और मैं गाड़ी चलाकर अस्पताल से वापस आने लगा. और रोते हुए मां ने मेरी तरफ देखा और कहा कि बेटे तुमने गाड़ी चलाना कब सीखा. मैंने कहा, 'बिल्कुल अभी'. उस रात से मैंने सर्वाइव करने के तरीक़े सीखने शुरू किए.

पढ़ें: 'शाहरुख़ खान मेरे भाई जैसा है '

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अबराम पर

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अबराम के साथ शाहरुख

चार साल पहले मेरी पत्नी और मैंने तय किया कि हमें तीसरा बच्चा चाहिए. इंटरनेट पर दावा किया गया कि वह हमारे 15 साल के पहले बच्चे का बेटा था. उसने रोमानिया में एक लड़की की कार चलाते हुए यह बीज बो दिया था. और हां, इसके साथ एक फ़र्ज़ी वीडियो भी था. और हम एक परिवार के तौर पर बहुत दुखी थे.

मेरा बेटा जो अब 19 साल का है, आप उसे 'हेलो' भी कहेंगे तो वह पलटकर कहेगा, 'लेकिन ब्रो, मेरे पास यूरोप का ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं था.'

सोशल मीडिया रिएक्शन पर

मैंने सोशल मीडिया पर अपनी पहचान सही करने की कोशिश की, जैसा बाक़ी लोग करते हैं. मैं दार्शनिक ट्वीट्स करने लगा लेकिन कुछ बहुत कंफ्यूज करने वाले जवाब मिले, जिनका मतलब मैं नहीं समझ पाया. जैसे आरओएफएल (ROFL), लोल (LOL).

किसी ने मुझे लिखकर भेजा 'एडिडास' (ADIDAS). मैं सोच रहा था कि आप मुझे किसी जूते का नाम क्यों लिखोगे? मैंने अपनी 16 साल की बेटी से पूछा तो उसने मेरा ज्ञान बढ़ाया. एडिडास (ADIDAS) का मतलब है, 'ऑल नाइट आई ड्रीम अबाउट सेक्स' यानी 'सारी रात मैं सेक्स के सपने देखता हूं.'

मैंने उसे जवाब दिया 'डब्ल्यू टी एफ.' इस बात का चुपचाप शुक्र मनाते हुए कि कुछ शॉर्ट फॉर्म कभी नहीं बदलेंगी.

पढ़ें: शाहरुख खान बोले, अबराम है ना अगला सुपरस्टार...

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पत्नी गौरी के साथ शाहरुख

प्रेम पर

इस प्राचीन धरती के लोगों ने मुझे असीम प्यार दिया है और मैंने इन लोगों से सीखा है कि ताकत या ग़रीबी आपकी ज़िंदग़ी को ज़्यादा जादुई या कम पेचीदा नहीं बना सकती. मैंने अपने देश के लोगों से सीखा है कि ज़िंदगी की गरिमा, एक इंसान, एक संस्कृति, एक धर्म, एक देश दरअसल अपनी इनायत और करुणा की क्षमता में बसता है.

मैंने सीखा कि जो वो चीज़ जो आपको आगे बढ़ने का जज़्बा देती है, आपको नाकाम होने से बचाती है, सर्वाइव करने में आपकी मदद करती है, वो इंसानियत का शायद सबसे पुराना और सबसे सरल जज़्बात है. और वह प्यार है. मेरी धरती के एक कवि ने लिखा है

पोथी पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय

ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय

मैं मानता हूँ कि भविष्य भी ऐसा ही होना चाहिए जहाँ प्यार हो.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे