ट्यूबलाइट सलमान का, बत्ती गुल डिस्ट्रीब्यूटर्स की

सलमान खान इमेज कॉपीरइट Twitter @TubelightKiEid

बॉक्स ऑफ़िस पर हमेशा सोना उगलने वाले सलमान ख़ान इस बार चूक गए.

उनकी फ़िल्म ट्यूबलाइट की कमाई का आंकड़ा भले ही किसी तरह से घिसट-घिसटकर 100 करोड़ के पार हो गया लेकिन फ़िल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स को ख़ून के आंसू रुला गई.

फ़िल्म में मुख्य भूमिका निभाने के साथ-साथ सलमान फ़िल्म के निर्माता भी हैं.

फ़िल्म व्यापार के जानकारों के मुताबिक़, जहां सलमान ख़ान के लिए ट्यूबलाइट ना चलने के बावजूद भी फ़ायदे का सौदा रही, वहीं फ़िल्म के वितरकों को क़रीब 75 करोड़ का घाटा हुआ क्योंकि उन्होंने फ़िल्म को बेहद ऊंचे दाम में ख़रीदा था.

पाकिस्तान में फ़िल्म रिलीज़ नहीं होने से नुकसान?

'बहुत बड़े हैं सलमान, उन्हें ग़लती की इज़ाज़त नहीं'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
देखिए किस फ़िल्म क्रिटिक्स ने 'ट्यूबलाइट' को कितने स्टार्स दिए?

सलमान की पिछली फ़िल्म

फ़िल्म को खरीदने वाली कंपनी एनएच स्टूडियो की मार्केटिंग टीम से जुड़ी श्रद्धा हीरावत कहती हैं, "फ़िल्म की रिलीज़ से पहले ही सलमान 200 से 250 करोड़ रुपए के फ़ायदे में थे. हमें यानी वितरकों को कितना नुकसान हुआ, ये कुछ दिनों बाद ही पता चल सकेगा. लेकिन अनुमान है कि वितरकों को 50 फ़ीसदी से ज़्यादा का घाटा रहा. हमने ये फ़िल्म लगभग 131 करोड़ मे खरीदी थी."

ईद पर रिलीज़ हुई कबीर खान निर्देशित 'ट्यूबलाइट' 10 दिन के बाद भी महज़ 111 करोड़ रुपए तक ही कमा पाई है जो सलमान की पिछली फ़िल्मों के मुकाबले बहुत ही कम है.

सलमान की पिछली फ़िल्म 'सुल्तान' ने पहले ही सप्ताह 200 करोड़ रुपए से ज़्यादा कमा लिए थे.

ऐसे में अब ट्यूबलाइट के वितरकों की तमन्ना है कि सलमान ख़ान उनके नुकसान की कुछ हद तक भरपाई करें.

मुझे 'बाहुबली' से डर नहीं लगता: सलमान

'दंगल जिसने चीनी सिनेमा को सबक सिखा दिया'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
सलमान खान के साथ बीबीसी की ख़ास मुलाक़ात, सुनिए.

वितरकों को नुकसान

श्रद्धा हीरावत के मुताबिक़, "फ़िल्म अगर 260 करोड़ रुपए का कारोबार करे, तब जाकर हमें नुकसान नहीं होगा लेकिन अब ये नामुमकिन है. ऐसे में वितरकों को नुकसान होना तय है. वैसे सलमान के साथ हमारा जो कॉन्ट्रेक्ट है उसके हिसाब से सलमान नुकसान की भरपाई करने के लिए बाध्य नहीं है लेकिन अगर वो अपनी इच्छा से देना चाहें तो ये उन पर निर्भर करता है."

वहीं फ़िल्म व्यापार विशेषज्ञ कोमल नाहटा दावा करते हैं कि वितरकों की एक टीम सलमान ख़ान से मिलने पहुंची थी.

कोमल कहते हैं, "मेरा अनुमान है कि सलमान भले ही पूरा पैसा ना दें लेकिन कुछ हद तक तो वितरकों के नुकसान को भरेंगे. सबसे बड़ी मुश्किल ये हुई कि फ़िल्म को हद से ज़्यादा ऊंचे दाम पर बेचा गया."

'वाह अक्षय...सीधे पीएम से फ़िल्म का प्रोमोशन करवा लिया'

देसी फ़िल्में, विदेशी सितारे

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
बीबीसी संगीत समीक्षा

सलमान ख़ान की 'सुल्तान' और 'बजरंगी भाईजान' ने तीन सौ करोड़ रुपए से ज़्यादा कमाए थे.

ऐसे में वितरक उनकी फ़िल्म ट्यूबलाइट को बेहद ऊंची क़ीमत पर ख़रीदने के लिए तैयार हो गए लेकिन इस बार पासा उल्टा पड़ गया.

'अमिताभ ख़ुद को कॉन्ट्रवर्सी से दूर रखते हैं'

सलमान के हिट होने से पिट गया इनका करियर

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे