रिटायरमेंट का ख़्याल ज़हन में आता है: अनिल कपूर

अनिल कपूर इमेज कॉपीरइट Twitter @Anil Kapoor

चार दशकों से फ़िल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे 'झक्कास अभिनेता' अनिल कपूर को कभी-कभी रिटायरमेंट का ख़्याल सताता है.

अपने 40 साल के करियर में अनिल कपूर ने 100 से भी अधिक फ़िल्में की हैं जिसमें शामिल हैं 'तेज़ाब', 'मिस्टर इंडिया', 'विरासत', 'पुकार', 'ईश्वर', 'स्लमडॉग मिलियनेयर' जैसी फिल्में.

60 साल के अनिल कपूर आज भी नए कलाकारों को टक्कर दे रहे हैं पर बढ़ती उम्र ने उन्हें रिटायरमेंट पर सोचने के लिए मजबूर कर दिया है.

हर्ष ने पूरी की मेरी ख्वाहिश: अनिल कपूर

'मिस्टर इंडिया' का रीमेक नहीं चाहते अर्जुन कपूर

इमेज कॉपीरइट Twitter @AnilKapoor

'मैं अमर नहीं हूं'

बीबीसी से रूबरू हुए अनिल कपूर अपने रिटायरमेंट पर कहते हैं, "कभी-कभी जब चोट लगती है तब ख़्याल आता है. आखिरकार है तो शारीरिक काम ही. मैं अमर नहीं हूँ. मरना तो सभी को है और बूढ़ा भी सभी को होना है. शारीरिक तौर पर आप हमेशा तंदुरुस्त नहीं रह सकते और ये ज़िंदगी है. ये सब चीज़ें ज़हन में आती हैं. फिर सोचता हूँ कब तक. जब तक दम है तब तक. जब तक दिमाग़ और शरीर में दम है तब तक. मैं अपने आप से कहता हूँ लगे रहो अनिल कपूर लगे रहो."

अनिल कपूर का कहना है कि उन्होंने भी अपने ज़माने में शरीर के साथ मोटे-पतले का प्रयोग किया था. नाक-कान में बाली डाली थी पर उस वक़्त इन सब बातों को तव्वजो नहीं मिलती थी जो आज मिल रही है.

पिता की कई फ़िल्में नहीं देखी हर्षवर्धन कपूर ने

अब शाहिद कपूर भी बेचेंगे चड्ढी-बनियान

इमेज कॉपीरइट Twitter @AnilKapoor

'परमवीर चक्र'

हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के शोमैन राज कपूर के फ़ैन रहे अनिल कपूर उनसे प्रेरित होकर फ़िल्मों में मूछों के साथ आए.

वो कहते हैं, "राज साहब मुझे बहुत पसंद करते थे. मुझे हमेशा प्रोत्साहित करते थे. मैं उनका बहुत बड़ा फ़ैन रहा हूँ और हमेशा रहूँगा. मुझे लगा कि जब वो मूंछ रख सकते हैं तो मैं क्यों नहीं."

राज कपूर ने अनिल कपूर के साथ 'परमवीर चक्र' नामक फ़िल्म भी करनी चाही पर वो फ़िल्म बन ना सकी.

इस कपूर खानदान की नवीन पीढ़ी सोनम कपूर, अर्जुन कपूर, हर्षवर्धन कपूर फ़िल्मों में कदम रख चुकी है.

25 साल की हुई 'धक-धक' गर्ल

जिन्होंने बनाया जयाप्रदा को स्टार

इमेज कॉपीरइट Twitter @AnilKapoor

अर्जुन कपूर के साथ

अनिल कपूर को ख़ुशी है कि ये सब अपने दम पर इंडस्ट्री में अपनी जगह बना रहे हैं और ये सिर्फ़ उनकी शुरुआत है.

छोटे बेटे हर्षवर्धन की फ़िल्म 'मिर्ज़िया' पर टिप्पणी करते हुए अनिल कपूर कहते हैं, "मिर्ज़िया देखकर लगता है कि इसमें कितनी मेहनत लगी है पर कई बार आप ग़लत हो जाते हो जैसे मेरी फ़िल्म 'लम्हें'. पर ठीक है. वो मेहनत कर रहा है."

अनीस बज़्मी की फ़िल्म 'मुबारका' में भतीजे अर्जुन कपूर के साथ पहली बार नज़र आएंगे चाचा अनिल कपूर. फ़िल्म 28 जुलाई को रिलीज़ होगी.

गुंडागर्दी मे हीरोगिरी की लग रही है छौंक

जब लता मंगेशकर बन गई थीं कोरस सिंगर

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे