पहलाज बहुत मददगार रहे हैं: अजय देवगन

अजय देवगन इमेज कॉपीरइट Universal PR

1991 में 'फूल और कांटे' फ़िल्म से बॉलीवुड में कदम रखने वाले अजय देवगन ने इंडस्ट्री में 26 साल पूरे कर लिए हैं. बीबीसी से बातचीत में उन्होंने पहलाज निहलानी से लेकर फ़िल्म इंडस्ट्री के कई अन्य पहलुओं पर अपनी राय रखी.

अजय ख़ुद को ख़ुशक़िस्मत मानते हैं कि इन 26 सालों में उन्हें कभी काम के लिए संघर्ष नहीं करना पड़ा. अपने सफल करियर का श्रेय वह क़िस्मत को देते हैं.

अभिनय के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके अजय देवगन ने बताया कि उनके लिए ऐतिहासिक किरदार निभाना सबसे चुनौतीपूर्ण होता है, जैसे कि 'शहीद भगत सिंह.' उन्होंने कहा कि ऐसे किरदारों के साथ बड़ी ज़िम्मेदारी जुड़ी होती है और किसी तरह की चूक की गुंजाइश नहीं रहती.

अजय देवगन ने नहीं होने दी मेरी शादी: तब्बू

पहलाज निहलानी की तारीफ़

हाल ही में केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफ़सी) में बड़े बदलाव हुए. पहलाज निहालानी की जगह अब प्रसून जोशी सीबीएफ़बी के अध्यक्ष हैं. जहां बहुत-सी फ़िल्मी हस्तियां बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष से परेशान थीं, अजय देवगन ने पहलाज की खुलकर तारीफ़ की.

इमेज कॉपीरइट Universal PR
Image caption अजय कहते हैं कि पहलाज से उन्हें कभी कोई दिक्कत नहीं हुई

बीबीसी से बातचीत में अजय देवगन ने सीबीएफ़बी में हुए बदलाव को लेकर कहा, 'प्रसून जोशी बहुत ही समझदार व्यक्ति हैं. आज की सोच रखने वाले शख्स हैं. मगर पहलाज जी के साथ भी मुझे कभी कोई दिक्कत नहीं आई.'

अजय ने कहा, ''कई बार उन्होंने अपने दायरे से बाहर जाकर मेरी और मेरे कई जानने वालों की मदद की है. उनके बारे में दिक्कतों के भी कुछ किस्से सुनने को मिले हैं मगर पता नहीं कि वे कितने सच हैं.'' अजय ने कहा कि व्यक्तिगत तौर किसी भी फ़िल्म के उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई.

मोदी मेरे आदर्श हैं- पहलाज निहालानी

'किसी अभिनेता से प्रतिस्पर्धा नहीं है'

इंडस्ट्री में बाकी अभिनेताओं से अपने रिश्तों पर बात कहते हुए अजय बताते हैं कि इंडस्ट्री में किसी अभिनेता से उनकी कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है. वह कहते हैं कि कई अभिनेता उनके दोस्त हैं और फ़िल्मों को लेकर वो उनसे सलाह-मशवरा भी करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Universal PR

फ़िल्म इंडस्ट्री को इस साल बड़े कारोबार की उम्मीद थी, मगर सलमान ख़ान की फ़िल्म 'ट्यूबलाइट' और शाहरुख़ ख़ान की फ़िल्म 'जब हैरी मेट सेजल' उम्मीदों पर खरी नहीं उतर सकी.

इस साल कुछ ही फ़िल्में अच्छा कारोबार कर पाई हैं. इस माहौल को अजय देवगन डरावना नहीं मानते. उनका कहना है कि अब लोग अच्छी फ़िल्म बनाने पर ज़्यादा ज़ोर देंगे.

देशहित में बोलने से कैसा डर : अजय देवगन

'स्टार सिस्टम कभी ख़त्म नहीं होगा'

अजय देवगन यह भी कहते हैं कि स्टार सिस्टम ख़त्म होने की कगार पर नहीं है और न ही यह कभी ख़त्म होगा.

उन्होंने कहा, ''जिन फ़िल्मों ने अच्छा कारोबार नहीं किया, उन्हें स्टार की बदौलत अच्छी ओपनिंग ज़रूर मिली. स्टार सिस्टम जब पूरी दुनिया में कहीं ख़त्म नहीं हुआ तो यहां कैसे ख़त्म होगा? यह कभी ख़त्म नहीं होगा.''

इमेज कॉपीरइट Universal PR
Image caption बादशाहो फ़िल्म में नज़र आएंगे अजय देवगन

अजय देवगन एक बार फिर इमरान हाशमी के साथ मिलन लूथरिया की फ़िल्म 'बादशाहो' में नज़र आएंगे.

इमरजेंसी की पृष्ठभूमि की काल्पनिक कहानी बनने वाली इस फ़िल्म में ईशा गुप्ता, विद्युत जमवाल, इलियाना डिक्रूज़ और संजय मिश्रा अहम भूमिका में होंगे. यह फ़िल्म 1 सितंबर को रिलीज़ होगी.

अभिनेताओं के लिए यह डरावना समय है: इमरान हाशमी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे