आइफ़ा समारोह में 'जोधा अकबर' की धूम

ऋतिक रोशन और ऐश्वर्य राय
Image caption जोधा अकबर की इस बार के आइफ़ा पुरस्कारों में धूम रही

इंटरनेशनल इंडियन फ़िल्म एकेडमी पुरस्कार (आइफ़ा) समारोह में आशुतोष गोवारीकर की फिल्म 'जोधा अकबर' छाई रही और उसने विभिन्न श्रेणियों में आठ पुरस्कार हासिल किए.

आइफ़ा पुरस्कारों की घोषणा शनिवार रात चीन के विशेष प्रशासनिक क्षेत्र मकाउ में आयोजित एक रंगारंग समारोह में की गई. समारोह की शुरुआत हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री दिग्गज कलाकार और 'आइफ़ा' के ब्रांड अंबेसडर अमिताभ बच्चन ने की. जोधा अकबर को सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म का पुरस्कार मिला, इसी फ़िल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशन का पुरस्कार आशुतोष गोवारीकर को और सर्वश्रेष्ठ अभिनय के लिए ऋतिक रोशन को पुरस्कृत किया गया. जबकि ऑस्कर विजेता एआर रहमान सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक चुने गए. ‘जोधा अकबर’ के लिए गायक जावेद अली को ‘जश्न-ए-बहारा’ गीत के लिए सर्वश्रेष्ठ गायक और जावेद अख्तर को सर्वश्रेष्ठ गीतकार का पुरस्कार मिला. प्रियंका चोपड़ा को फ़िल्म 'फ़ैशन' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया.

भावुक हुए अभिषेक

Image caption अभिषेक बच्चन को दोस्ताना के लिए सर्वश्रेष्ठ हास्य कलाकार का पुरस्कार मिला

समारोह में अभिषेक बच्चन को ‘दोस्ताना’ में उनके रोल के लिए सर्वश्रेष्ठ हास्य कलाकार के रूप में पुरस्कृत किया गया. पुरस्कार लेते वक्त अभिषेक बच्चन भावुक हो उठे. उन्होंने प्रोत्साहन के लिए अपने पिता और सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के प्रति आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ''यह पुरस्कार मुझे पिताजी के कारण मिला है. मैंने जब उनकी फ़िल्म अमर-अकबर-एंथोनी देखी थी, तो मुझे लगा था कि मुझे भी एक दिन उनके जैसा बनना है. आज मैं जो भी हूं उसके लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं.'' ये कहते हुए उनकी आंखों में आंसू भर आए.

जोधा अकबर छाई

फिल्म ‘जोधा अकबर’ को तकनीकी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ वेषभूषा (नीता लुल्ला), सर्वश्रेष्ठ संपादन (बल्लू सलूजा), सर्वश्रेष्ठ कला निर्देशन (नितिन देसाई) और सर्वश्रेष्ठ मेकअप (माधव कदम) के लिए पुरस्कृत किया गया. ‘गजनी’ को सर्वश्रेष्ठ एक्शन, सर्वश्रेष्ठ साउंड रिकॉर्डिग (आस्कर विजेता रसूल पुकुट्टी व अमृत) और विजुअल स्पेशल इफेक्ट्स के लिए पुरस्कार दिया गया. समारोह में राजेश खन्ना को लाइफ़ टाइम एचीवमेंट अवार्ड दिया गया. आइफ़ा में ऐश्वर्या राय बच्चन और शाहरुख़ ख़ान दशक के सर्वश्रेष्ठ कलाकार घोषित किए गए. राकेश रोशन को दशक के निर्देशक के रूप में पुरस्कृत किया गया जबकि ‘लगान’ को दशक की सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म चुना गया.

उल्लेखनीय है कि हिंदी फ़िल्मों को दुनिया भर में बढ़ावा देने के लिए 'आइफ़ा' का आयोजन हर साल भारत के बाहर किया जाता है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है