टोरंटो में दिल बोले हड़िप्पा

रानी मुखर्जी

रानी मुखर्जी का दिल आजकल हड़िप्पा बोल रहा है. कनाडा के टोंरटों में चल रहे फ़िल्म समारोह में उनकी इस हफ़्ते रिलीज़ होने वाली फ़िल्म ‘दिल बोले हड़िप्पा’ दिखाई गई.

टोरंटो में दर्शकों ने इस फ़िल्म को हाथों-हाथ लिया. भारी संख्या में जुटे भारतीय मूल के फ़िल्म प्रेमियों ने टोरंटो के रॉय थॉमसन हॉल को खचाखच भर दिया.

प्रशंसकों में रानी मुखर्जी के साथ तस्वीरें खिंचवाने और ऑटोग्राफ़ लेने में होड़ लगी रही. इसी बीच रंगीन लिबास में भंगड़ा करने वालों का एक दल लगातार लोंगों का मंनोरंजन कर रहा था.

रानी ने कहा कि टोरंटो फ़िल्म समारोह में उनकी फ़िल्म का दिखाया जाना उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है.

उन्होंने कहा," ये दिल बोले हड़िप्पा की सारी टीम के लिए एक बड़ा सम्मान है. जैसा कि हम जानते हैं कि टोरंटो फ़िल्म समारोह के पहले दिन व्यावसयिक फ़िल्में नहीं दिखाई जातीं, इसलिए में और भी ख़ुश हूं."

दिल बोले हड़िप्पा में क्रिकेट खिलाड़ी बनने की चाह रखने वाली लड़की का रोल अदा कर रही रानी मुखर्जी को सचिन तेंदुलकर और इरफ़ान पठान बहुत पसंद हैं.

रानी ने बताया कि इस रोल के लिए उन्हें क्रिकेट सीखना पड़ा. रानी ने कहा कि बचपन में उन्होंने कभी क्रिकेट नहीं खेला है इसलिए उन्हें सबकुछ सीखना पड़ा. दिल बोले हड़िप्पा में अपने की किरदार के लिए उन्होंने छह महीने तक क्रिकेट सीखा.

इस फ़िल्म के केंद्र में एक लड़की की महत्त्वकांक्षा है. भारत में महिला प्रधान फ़िल्में कम ही बनतीं हैं. रानी कहती हैं कि कुछ निर्देशक हैं जो महिलाओं को केंद्र में रखकर रोल लिखते हैं, जैसे ब्लैक में संजय लीला भंसाली ने किया था.

संबंधित समाचार