एड्स पर प्रियदर्शन की कॉमेडी

प्रियदर्शन

राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़ी गई तमिल फ़िल्म 'कांचीवरम' के निर्देशक प्रियदर्शन हिंदी सिनेमा में ‘हेराफेरी’ जैसी कामयाब कॉमेडी फ़िल्मों के लिए जाने जाते हैं.

अब वे अपने इस हुनर का प्रदर्शन एड्स पर आधारित एक कॉमेडी फ़िल्म बनाकर करने जा रहे हैं.

वैसे यह फ़िल्म 'हेराफेरी' जैसी नहीं होगी क्योंकि इसके केंद्र में वे किरदार होंगे जो यह जानने के लिए बेक़रार हैं कि उनका एड्स के लिए हुआ टेस्ट पॉज़िटिव पाया गया है या निगेटिव.

क्या है संदेश

प्रियदर्शन ने इस फ़िल्म के बारे में बीबीसी से कहा, ''ये फ़िल्म एड्स के बारे में जानकारी से भरी है लेकिन सब-कुछ हल्के-फ़ुल्के ढंग से पेश किया गया है. इसमें आम जीवन की घटनाओं का सहारा लिया गया है. हंसी-मज़ाक के बीच गंभीर जानकारी इस तरह रखी गई है कि इसे बच्चे भी देख सकें.''

प्रियदर्शन कहते हैं कि इस फ़िल्म के ज़रिए वे यह संदेश भी देना चाहते हैं कि एड्स कैंसर की ही तरह एक बीमारी है. वे कहते हैं, ''ये एक ऐसी कॉमेडी होगी जिसमें हंसते वक़्त आपकी आंखों से आंसू भी निकलेंगे''

उनकी यह फ़िल्म कुछ और कारणों से भी चर्चा में है. ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि प्रियदर्शन इस फ़िल्म में आमिर ख़ान को लेना चाहते हैं.

प्रियदर्शन ने बताया,''मैंने सिर्फ़ आमिर ख़ान को आइडिया बताया था, उन्हें यह पसंद भी आया. फिर उन्होंने मुझे स्क्रिप्ट दिखाने को कहा. मैंने अभी उन्हें स्क्रिप्ट नहीं दिखाई है. अगर वे रोल मंज़ूर करते हैं तो बढ़िया वरना उनके बिना ही फ़िल्म बनाऊंगा''

प्रियदर्शन हिंदी में तो एक से बढ़ कर एक कॉमेडी बनाते रहते हैं लेकिन दक्षिण में वे अपने ख़ूबसूरत और गंभीर सिनेमा के लिए जाने जाते हैं. उनकी फ़िल्म 'कांचीवरम' को मिला सम्मान इसका सबूत है.

अपने इस अंदाज़ को प्रियदर्शन ख़ुद किस तरह देखते हैं, इस सवाल पर प्रियदर्शन कहते हैं,''मैं केरल से हूँ, वहाँ साक्षरता की दर काफ़ी ऊपर है. वहाँ तो घरों में अख़बार फेंकने वाले लड़के भी पहले ख़ुद उसे पढ़ते हैं. वहाँ गंभीर फ़िल्में चल जाती हैं. मैं यह रिस्क हिंदी में नहीं ले सकता क्योंकि यहाँ बाज़ार बहुत बड़ा और जटिल है.''

प्रियदर्शन की आने वाली हिंदी फ़िल्म एक बार फिर कॉमेडी ही है. 'दे दना दन' के बारे में प्रियदर्शन कहते हैं कि एक बार फिर वे उसी टीम के साथ काम कर रहे हैं जिसने 'हेराफ़ेरी' बनाई थी. प्रियदर्शन को नहीं लगता कि वे दोबारा कोई ऐसी फ़िल्म लिख पाएंगे.

संबंधित समाचार