38 साल बाद फिर मचेगी 'हलचल'

कबीर बेदी
Image caption कबीर बेदी

गुज़रे समय की जानी मानी अभिनेत्री जीनत अमान और एक्टर कबीर बेदी 38 साल बाद बड़े पर्दे पर एक साथ फिर नज़र आएँगे. फ़िल्म का नाम है 'डोंट नो वाय..न जाने क्यों' जिसका निर्देशन कर रहे हैं संजय शर्मा.

इससे पहले एक साथ 1971 में ओ.पी. रल्हन द्वारा निर्देशित फिल्म ‘हलचल’ में दोनो ने साथ काम किया था.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

अपने रोल के बारे में एक्टर कबीर बेदी ने बीबीसी को बताते हुए कहा ‘ ये रोल एक बहुत ही सेंटीमेंटल रोल है. ज़ीनत एक क्रिस्तान महिला का रोल कर रही हैं और मैं उसके पति का जो घर छोड़ कर मिशिनरी आश्रम में काम करना शुरु कर देता है और बच्चों की पर्वरिश अकेले पत्नी को करनी पड़ती है. फिर कई सालों बाद ये वापस घर जाता है और कैंसर से पीड़ित है और चाहता है कि वहीं रिश्ते फिर से शुर किये जाएं, कुछ यही अंतर्द्वंद दर्शाया गया है फ़िल्म में’

ज़ीनत अमान के साथ इतने सालों बाद काम करने के बारे में पूछे जाने पर कबीर बेदी ने कहा ‘ ज़ीनत औऱ मेरा रिश्ता बहुत पुराना है. हालांकि हमारी पहली पिक्चर ‘हलचल’ फ्लाप हो गयी पर फिर उसके बाद मेरी फ़िल्म कच्चे धागे हिट हुई औऱ ज़ीनत का करियर भी 'हरे राम हरे कृष्णा' से आगे बढ़ गया. बहुत सी पुरानी यादें हैं तो मिलकर बहुत ख़ुशी हुई औऱ उनमें जितनी ख़ूबसूरती तब थी वो अब भी है औऱ साथ काम करने में बहुत मज़ा आया.’

इस फ़िल्म में कबीर बेदी और ज़ीनत के अलावा काम कर रही हैं हेलेन भी और कबीर बेदी ने कहा कि ‘मैं हेलेन का बहुत आदर करता हूँ क्योंकि कुछ कलाकार एसे हैं जो सिर्फ़ कलाकार नही रहते बल्कि आईकॉन बन जाते हैं. तो एसे लोगों के साथ जब मैं काम करता हूँ मुझे बहुत मज़ा आता है.’

कबीर बेदी अगले वर्ष जनवरी में अनुराग बसु की फ़िल्म 'काइटस' में भी नज़र आएँगे औऱ इसके बारे में उन्होंने कहा ‘ काइटस की ख़ास बात ये है कि ये न सिर्फ़ एक बॉलीवु़ड फ़िल्म है बल्कि एक हॉलीवु़ड फ़िल्म भी है औऱ इसका रिलीज़ दुनिया भर में एक साथ ही होगा.’