भंडारकर की 'कॉमेडी'

मधुर भंडारकर
Image caption गंभीर सिनेमा से कॉमेडी की ओर

आज के हिंदी सिनेमा में वास्तविकता के क़रीब फ़िल्में बनाने के माहिर मधुर भंडारकर अब कॉमेडी फ़िल्म बनाना चाहते हैं.

भंडारकर ने अब तक काफ़ी गंभीर और यथार्थ के क़रीब फ़िल्में बनाईं हैं. इनमें शामिल हैं – चांदनी बार, सत्ता, पेज-थ्री, कॉर्परेट, ट्रैफ़िक सिग्नल, फ़ैशन और जेल.

भंडारकर से बीबीसी को बताया है, “मुझे कॉमेडी बनानी है, मैं काफ़ी समय से इस बारे में सोच रहा था. अब लगता है समय आ गया है. मैं एक संवेदनशील कॉमेडी बनाने की कोशिश करुंगा.”

भंडारकर इस बात से बिल्कुल सहमत नहीं हैं कि गंभीर फ़िल्मकार एक कॉमेडी फ़िल्म नहीं बना सकता है, वो कहते हैं, “मैं कॉमेडी बनाऊंगा लेकिन हद में रहूंगा. लेकिन इस कॉमेडी में भी मधुर भंडारकार की फ़िल्मों जैसी संवेदनशीलता रहेगी. मेरी फ़िल्में तमाम गंभीरता के बावजूद कुछ तो हास्य का पुट रखतीं हीं हैं”

इसके अलावा अगले साल से मधुर भंडारकर पांच फ़िल्मों का निर्माण करेंगे जिन्हें वो भंडारकर फ़िल्म्स के बैनट तले बनाएंगे.

भंडारकर ने बीबीसी को बताया, “इन पांच में से दो फ़िल्मों का निर्देशन मैं ख़ुद ही करुंगा. बाक़ी बची फ़िल्में को नए निर्देशक करेंगे.”

उन्होंने बीबीसी को बताया कि इन फ़िल्मों के विषय अमूनन वैसे ही होंगे जैसे विषयों के लिए मधुर भंडारकर की फ़िल्में जानी जाती हैं.

संबंधित समाचार