करीना कपूर बनेंगी लेखिका

करीना कपूर
Image caption करीना कपूर फ़िटनेस एक्पर्ट रुजुता दिवेकर की अगली किताब में एक लेख लिखेंगी.

बॉलीवुड में साइज़ ज़ीरो के लिए मशहूर अभिनेत्री करीना कपूर अब अपना हाथ लेखन में भी आज़माएंगी.

फ़िटनेस एक्सपर्ट रुजुता दिवेकर की किताब 'डोंट लूज़ योर माइंड, लूज़ योर वेट' में करीना ने भूमिका लिखी है और अब वो रुजुता की अगली किताब में एक लेख लिखेंगी.

करीना कहती हैं, "मैं ख़ुश हूं कि रुजुता की इस किताब को और मैंने इसमें जो भी मैंने लिखा है, उसे लोगों ने काफ़ी सराहा. रुजुता अब एक और किताब लिखने जा रही हैं. उस किताब में किस तरह कामकाजी महिलाएं अपनी फ़िटनेस बनाए रहें, इस बारे में मैं एक चैप्टर लिखूंगी. मैं बहुत ख़ुश हूं की अब मैं ऐक्टर से लेख़क बनने जा रही हूं."

करीना का मानना है कि फ़िट रहना बेहद ज़रूरी है, ख़ासकर एक एक्टर के लिए.

वो कहती हैं, "मैं अपनी फ़िटनेस के लिए ज़रूर वक़्त निकलती हूं और ख़ासकर अगर आप विज़ुयल मीडियम में हैं तो आपका अच्छा दिखना बेहद ज़रूरी है.”

करीना कहती हैं, “एक एक्टर होने के नाते हम अलग-अलग क़िस्म के किरदार निभाते हैं तो स्क्रीन पर हर बार कुछ न कुछ बदलाव लाना चाहिए. मुझे तो ख़ासकर नयी-नयी लुक्स आज़माना पसंद है.”

फ़िट रहने के लिए सही खान-पान भी ज़रुरी है.

करीना कहती हैं, “अक्सर लोगों को ये ग़लतफ़हमी होती है कि कुछ भी खाकर कुछ भी एक्सरसाइज़ करें तो वज़न कम हो जाता है.”

रुजुता दिवेकर की किताब का हवाला देते हुए करीना कहती हैं कि ये सोच सही नहीं है.

उनका कहना है, “आपको अपना खान-पान सही रखना होगा. दस चॉकलेट खाकर ट्रैडमिल पर वर्कआउट करने से ही वज़न कम नहीं हो जाएगा.”

लेकिन इसके मतलब ये नहीं है कि ख़ुद करीना कपूर अपने खाने पर कड़ा कंट्रोल रखती हैं.

करीना कहती हैं, “मैंने कुछ भी खाना नहीं छोड़ा है. चाहे चॉकलेट हो, पिज़ा या फिर पास्ता, मैं सब खाती हूं लेकिन हर रोज़ नहीं. पहले मैं रोज़ ये सब खाती थी लेकिन अब रोज़ नहीं, हां हफ़्ते में एक बार तो खा ही लेती हूं.”

सही डाइट के साथ ही ख़ुद को फ़िट रखने के लिए करीना योग भी करती हैं.

करीना कहती हैं, “चलना और योगा करना सबसे अच्छा रहता है. मैं जिम में यकीन नहीं रखती क्योंकि जिम में बहुत घुटन होती है.”

संबंधित समाचार