अर्थव्यवस्था में फ़िल्मों का योगदान

भारतीय फ़िल्म उद्योग
Image caption रोज़गार के लिहाज़ से भी भारतीय फ़िल्म उद्योग बड़ा योगदान है.

भारतीय अर्थव्यवस्था को यहां के फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग ने क़रीब 28 हज़ार करोड़ रुपए का योगदान दिया है.

शुक्रवार को नई दिल्ली में आयोजित एशिया सोसाईटी के सम्मेलन में ये रिपोर्ट पेश की गई. प्राइसवाटरहॉउस कूपर्स ने इस रिपोर्ट को तैयार किया है.

रिपोर्ट के अनुसार भारतीय फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग क़रीब 18 लाख लोगों को रोज़गार भी दे रहा हैं.

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत के सकल घरेलू उत्पाद में फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग का योगदान विज्ञापन उद्योग से कहीं ज़्यादा है.

इस मौके पर मोशन पिक्चर एसोसिएशन ऑफ अमरीका के प्रमुख डैन ग्लिकमन ने कहा, “भारतीय फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग की इस कामयाबी पर भारतीयों को गर्व करना चाहिए.”

टाइम वार्नर के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, ह्यू स्टीफन्स ने कहा, “ग्राहकों की संख्याँ के हिसाब से भारत में फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग, विश्व के बड़े बाज़ारों में से एक है.”

वित्तीय वर्ष 2008 में भारतीय फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग की आय संयुक्त रुप से 35 हज़ार करोड़ रुपए थी. यह देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि अगले पाँच वर्षों तक ये 11 फ़ीसदी की दर से बढ़ेगा और 60 हज़ार करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा.

संबंधित समाचार