लंदन में 'रावण' का प्रीमियर

मणि रत्नम, अभिषेक बच्चन, ऐश्वर्या राय बच्चन

निर्देशक मणि रत्नम की नई फ़िल्म 'रावण' का लंदन में वर्ल्ड प्रीमियर हुआ.

निर्देशक मणि रत्नम की नई फ़िल्म ‘रावण’ का वर्ल्ड प्रीमियर बुधवार को लंदन के ब्रिटिश फ़िल्म इंस्टीट्यूट (बीएफ़आई) में हुआ. ये पहला मौक़ा है जब बीएफ़आई में किसी बॉलीवुड फ़िल्म का प्रीमियर हुआ हो.

फ़िल्म का प्रीमियर लंदन में करने के फ़ैसले को मणि रत्नम सही मानते हैं.

वो कहते हैं, “मैं मानता हूं कि भारतीय फ़िल्मों को बाकी दुनिया के सामने पेश करने के लिए लंदन सही जगह है.”

मणि रत्नम के साथ ही फ़िल्म के मुख्य कलाकार अभिषेक बच्चन, ऐश्वर्या राय बच्चन और विक्रम ने भी प्रीमियर में हिस्सा लिया.

इस मौक़े पर अमिताभ बच्चन भी मौजूद थे. अमिताभ बच्चन ने कहा, “अपने बेटे और बहू के इस ख़ास दिन पर मौजूद रहना हमारे लिए बहुत ही गर्व की बात है.”

फ़िल्म के प्रीमियर पर शाहरुख़ ख़ान और गुरिंदर चड्ढा भी मौजूद थे.

हमसे अक्सर ये सवाल पूछा जाता है. हमारे लिए ये फ़र्क बताना बहुत मुश्किल है. हमने शादी के पहले भी एक साथ काम किया है इसलिए हम नहीं कह सकते कि शादी के बाद पहली बार एक साथ कैमरे के सामने कैसा महसूस हुआ.

ऐश्वर्या, पति अभिषेक के साथ काम करने के बारे में

प्रीमियर से पहले रावण की कास्ट से बीबीसी एशियन नेटवर्क ने एक ख़ास बातचीत की.

इससे पहले भी अभिषेक और ऐश्वर्या ‘ढाई अक्षर प्रेम के’, ‘कुछ न कहो’ और ‘गुरु’ में एक साथ काम कर चुके हैं.

ये तीनों ही फ़िल्में इन दोनो की शादी से पहले की हैं, जबकि ‘रावण’ में अभिषेक और ऐश्वर्या ने शादी के बाद पहली बार एक साथ काम किया है.

ये पूछे जाने पर कि शादी के बाद एक साथ फ़िल्म करने का अनुभव कैसा था, ऐश्वर्या ने कहा, “हमसे अक्सर ये सवाल पूछा जाता है. हमारे लिए ये फ़र्क बताना बहुत मुश्किल है. हमने शादी के पहले भी एक साथ काम किया है इसलिए हम नहीं कह सकते कि शादी के बाद पहली बार एक साथ कैमरे के सामने कैसा महसूस हुआ. ये बात व्यक्तिगत रिश्तों के बारे में नहीं है.”

फ़िल्म हिंदी और तमिल में बनाई गई है. निर्देशक मणि रत्नम मानते हैं कि दो अलग-अलग भाषाओं में फ़िल्म बनाना मुश्किल काम था.

मणि कहते हैं, “इसमें बहुत मेहनत लगी. एक भी ग़लती होने का मतलब था उसे दो बार सुधारना.”

जहां फ़िल्म के हिंदी संस्करण में विक्रम की सकारात्मक भूमिका है, वहीं तमिल में वो खलनायक बने हैं.

विक्रम कहते हैं, “दो अलग-अलग तरह के रोल करना बहुत चुनौतीपूर्ण था. लेकिन मदद के लिए मणि सर हमेशा मौजूद थे. दोनों ही किरदार एक दूसरे से बिल्कुल फ़र्क हैं और इसका श्रेय टीम को जाता है.”

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.