आमिर की 'पीपली लाइव'

आमिर ख़ान
Image caption आमिर आजकल अपनी फ़िल्म 'पीपली लाइव' का प्रचार कर रहे हैं

आमिर ख़ान के बैनर तले बनी फ़िल्म 'पीपली लाइव' एक गांव और उसके किसानों की कहानी है. आमिर आजकल इस फ़िल्म के प्रचार में जुटे हुए है.

आमिर ख़ान कहते हैं कि 'पीपली लाइव' आज के समाज, मीडिया और राजनीति पर एक व्यंग्य है.

इस फ़िल्म की पटकथा और निर्देशन अनुषा रिज़वी का है.

इस फ़िल्म के बारे में आमिर ख़ान कहते हैं, "सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें किसी को सही या ग़लत दिखाने की कोशिश नहीं की गई है, न ही किसी की आलोचना की गई है. ये आजकल जो हो रहा है उसपर एक व्यंग्यात्मक नज़रिया है."

आमिर ख़ान इस फ़िल्म के निर्माता हैं लेकिन इसमें उन्होंने अभिनय नहीं किया है.

आमिर कहते हैं कि एक निर्माता के रूप में वो फ़िल्म की शूटिंग में दखल नहीं देते. वो सिर्फ़ फ़िल्म की तैयारी और प्रचार में सहायता करते हैं.

फ़िल्म निर्माण के गुर

आमिर कहते हैं, "फ़िल्म का निर्माण करने वाले लोगों को इस बात का ख़्याल रखना चाहिए कि निर्माण में सही ढंग से पैसा ख़र्च हो. कर्मचारियों की आमदनी में कटौती नहीं होनी चाहिए और बड़े सितारों और निर्माता-निर्देशकों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए."

आमिर ख़ान कहते हैं कि इस फ़िल्म में मीडिया का एक महत्वपूर्ण रोल है. फ़िल्म में मीडिया को भी व्यंग्यात्मक ढंग से तो दिखाया ही गया है लेकिन ये भी दिखाया गया है कि मीडिया को क्या दिक्कतें होती हैं.

फ़िल्म की निर्देशक अनुषा रिज़वी के बारे में आमिर कहते हैं, "अनुषा ने बेहतरीन काम किया है. वो पहले एक पत्रकार रह चुकी हैं इसलिए उनका नज़रिया ही अलग है. एक पत्रकार को कई अलग तरह के अनुभव होते हैं और इस फ़िल्म को बनाते वक़्त अनुषा को ये काम आया है."

'पीपली लाइव' में दिखाई पड़ेंगे ओमकार दास माणिकपुरी, रघुबीर यादव, नवाज़उद्दीन सिद्दक़ी और मलाइका शिनॉय.

इस फ़िल्म को सेंसर बोर्ड की तरफ़ से 'ए' सर्टिफ़िकेट मिला है. इसका कारण आमिर ख़ान बताते हैं कुछ जगहों पर फ़िल्म में अपशब्दों का इस्तेमाल.

'पीपली लाइव' से पहले आमिर ने 'लगान', 'जाने तू या जाने' न और 'तारे ज़मीं पर' जैसी फ़िल्मों का निर्माण भी किया है.

संबंधित समाचार