बीबीसी टेक वन: चटपटी फ़िल्मी गपशप

लता मंगेशकर
Image caption मुग़ल-ए-आज़म की यादें हुई तरोताज़ा

1960 में भारतीय सिनेमा में एक ऐसी फ़िल्म बनी जो आज भी पुरानी नहीं लगती. और वो फ़िल्म है मुग़ल-ए-आज़म.

चाहे मधुबाला की दिलकश अदाएँ हों या फिर दिलीप कुमार की बगावती शक्सियत.या फिर हो बादशाह अकबर बने पृथ्वीराज कपूर की दमदार आवाज़, फ़िल्म में सब कुछ था खास.

साथ ही खास था फ़िल्म में नौशाद साहब का संगीत.मुग़ल-ए-आज़म के ज़्यादातर गाने गाये लता मंगेशकर ने.

बीबीसी टेक वन के इस अंक में दीप्ति कार्की ने की एक खास बातचीत लता मंगेशकर के साथ. लता जी ने बांटी मुग़ल-ए-आज़म से जुडी अपनी यादें.

सिर्फ लता जी ही नहीं बाँट रही हैं अपनी यादें बल्कि अभिनेता अमिताभ बच्चन भी हो रहे हैं भावुक अपनी फ़िल्म शोले को याद करके.

सुनिए बीबीसी टेक वन

साथ ही बीबीसी टेक वन में हो रही है बात इस हफ्ते रिलीज़ हो रही फ़िल्मों 'पीपली लाइव' और 'हेल्प' की. पीपली लाइव के निर्माता हैं अभिनेता आमिर खान, जो कहते हैं की वो इस फ़िल्म के ज़रिये लोगों को जागरूक करना चाहते हैं.

हेल्प में मुख्य भूमिका में हैं बॉबी देओल जो कहते हैं की हेल्प एक हॉरर फ़िल्म है. साथ ही कार्यक्रम में हैं फ़िल्म समीक्षक नम्रता जोशी जो बता रही हैं अपनी राय इन दोनों फ़िल्मों के बारे में.

Image caption प्रियंका करेंगी होस्ट खतरों के खिलाड़ी को

बीबीसी टेक वन के इस अंक में आप सुन सकते हैं प्रियंका चोपड़ा को भी. प्रियंका को हाल ही में यूनीसफ का ब्रैंड एम्बैसेडर घोषित किया गया. प्रियंका कहती हैं की उनका और इस स्वयं सेवी संस्था का रिश्ता बहुत पुराना है.

वैसे इस हफ्ते मीडिया में हर जगह प्रियंका चोपड़ा ही छाई रही. प्रियंका जल्द ही टीवी पर 'खतरों के खिलाड़ी' को होस्ट करती नज़र आयेंगी. वो कहती हैं की खुद वो अगर किसी चीज़ से डरती हैं तो वो है असफलता.

संबंधित समाचार