बिपाशा का पूर्वानुमान सही निकलता है: जॉन

जॉन अब्राहम की फ़िल्म झूठा ही सही बिपाशा बसु को खासी भा रही है और उनका मानना है कि फ़िल्म दर्शकों को पसंद आएगी. जॉन इस बात से ख़ुश हैं क्योंकि उनके अनुसार फ़िल्मों को लेकर बिपाशा का अनुमान सही निकलता है.

जॉन ने बताया कि बिपाशा ने उनसे कहा कि इस फ़िल्म में हॉलीवुड फ़िल्मों जैसी झलक मिल रही है जो कि अच्छी बात है.

इस फ़िल्म में जॉन का लुक उनकी पुरानी छवि से काफी अलग है. कई लोगों का मानना है कि उनका ये लुक हॉलीवुड फ़िल्म सुपरमैन के किरदार क्लार्क केंट जैसा है जिसे ब्रांडन रूठ ने निभाया था.

अपने इस लुक का श्रेय जॉन फ़िल्म के निर्देशक अब्बास टायरवाला को देते हैं. जॉन ने बताया कि अब्बास ने उन्हें जिम जाने से भी रोक कर रखा और उन्हें किसी तरह की कसरत नहीं करने दी.

फ़िल्म में जॉन क्लीन शेव बड़े बड़े चश्मे पहने हुए दिखाई देंगे.

असली जीवन की आदत

फ़िल्म का गाना क्राई-क्राई काफी पसंद किया जा रहा है और जॉन कहते हैं कि ये असल जीवन में लड़कियों की रोने धोने कि आदत पर आधारित है.

अक्सर कहा जाता है कि लड़कों में झूठ बोलने की आदत होती है और लड़कियों में बात बात पर रोने की. जॉन कहते हैं कि इसी सोच पर आधारित है फ़िल्म की कहानी.

इस फ़िल्म में जॉन और उनके दोस्त एक किताबों की दुकान पर काम करते हैं और जॉन के अनुसार निर्देशक अब्बास टायर वाला के सख़्त आदेश थे कि जो लोग किताबों में दिलचस्पी नहीं रखते हैं वो भी किताबें पढ़ने की आदत डालें ताकि वो सीन की परिस्थिति को सही ढंग से समझ सकें.

अपनी ज़बरदस्त बॉडी के लिए जाने जाने वाले जॉन कहते हैं कि हर बॉडी बनाने वाला इंसान हिंसा में विश्वास रखता हो ऐसा नहीं होता. जॉन खुद मानते हैं कि अलसियत में वो स्वभाव से काफी कुछ इस किरदार जैसे ही हैं क्यूंकि वो अहिंसा में विश्वास रखते हैं और महात्मा गाँधी के जीवन से काफ़ी प्रभावित हैं.

इसी हफ्ते दिल्ली में शुरू हुए राष्ट्रमंडल खेलों को लेकर भी जॉन ख़ासे उत्साहित हैं और उनका मानना है कि जो हो गया सो हो गया, इतनी निंदा के बाद अब जब भारत ने इतनी अच्छी शुरुआत की है और हमारे खिलाड़ी बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं तो अब हमें केवल इन खेलों को सफलता पूर्वक अंजाम देने के बारे में ही सोचना चाहिए.

खेलों को लेकर हुई रक़म की भारी भरकम गड़बड़ी की चर्चा पर जॉन ने कहा कि हम केवल खेलों की आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी को हर चीज़ के लिए उत्तरदायी नहीं ठहरा सकते, अगर गड़बड़ी हुई है तो इसमें कई और लोग अवश्य शामिल होंगे.

संबंधित समाचार