'बिग बॉस की शादी है एक ड्रामा'

बिग बॉस

रिएलिटी शो बिग बॉस में अली और सारा की शादी दिखाई गई

रिएलिटी शो बिग बॉस के चौथे सीज़न में इसकी प्रतियोगी सारा और उनके मंगेतर अली की शादी गुरुवार को टीवी पर दिखाई गई.

एक क़ाज़ी को बुलाया गया, और परंपरागत तरीक़े से ये शादी की रस्म संपन्न हुई. लेकिन इस शो से हाल ही में बाहर हुए प्रतियोगी राहुल भट्ट इस पूरी शादी को ड्रामा करार देते हैं.

बीबीसी से बात करते हुए वो कहते हैं, "शादी के नाम पर शो में जो खिलवाड़ हो रहा है, वो ग़लत है. शो को लोकप्रिय बनाने के लिए जनता को उल्लू बनाया जा रहा है. ये शर्मनाक है."

चर्चा तो ये भी है कि अली और सारा को चैनल ने इस शादी के लिए काफ़ी मोटी रक़म भी दी है. राहुल भट्ट कहते हैं, "मुझे 50 करोड़ रुपए भी कोई दे तो मैं ऐसी झूठी शादी नहीं करूंगा. ये बेहद सस्ती लोकप्रियता पाने की कोशिश है. मैं तो ऐसा कभी नहीं करूंगा."

बिग बॉस से ही बाहर हुए एक और प्रतियोगी पाकिस्तानी टीवी कलाकार अली सलीम, जो बेगम नवाज़िश अली के नाम से ज़्यादा मशहूर हैं, कहते हैं, "शो में कई लोग जान-बूझकर ऐसी हरकतें करते हैं, ताकि लोग उनको नोटिस करें. और अगर ये शादी सिर्फ़ शो की टीआरपी बढ़ाने के लिए की गई है, तो ये ग़लत बात है."

बिग बॉस

टीवी समीक्षक पूनम सक्सेना कहती हैं कि पब्लिसिटी के लिए शो में कई बातें नाटकीय ढंग से पेश की जाती हैं.

आजकल टीवी पर आने वाले ज़्यादातर रिएलिटी शो में यही हो रहा है. चीखना, चिल्लाना, गाली-गलौज यहां तक कि मार-पीट भी खुलेआम दर्शकों के सामने परोसी जा रही है.

सवाल ये है कि क्या ये सचमुच होता है, या ये सब लोकप्रियता बटोरने के लिए और दर्शकों को आकर्षित करने के लिए किया जाने वाला ड्रामा है.

टेलीविज़न समीक्षक पूनम सक्सेना कहती हैं, "देखिए, पब्लिसिटी, पब्लिसिटी होती है, वो चाहे अच्छी हो या बुरी. अगर ये सब ड्रामा भी होता है, तो उससे चैनल को फ़ायदा ही पहुंचता है. लोग भले ही सोचें कि उन्हें बुद्धू बनाया जा रहा है, लेकिन आख़िर वो ऐसे ड्रामे देखना पसंद तो करते ही हैं."

पूनम का ये भी मानना है कि इस तरह के रिएलिटी शो में हिस्सा लेने वाले प्रतियोगियों को ये भी लगता है कि शो उनके प्रोफ़ाइल को मज़बूत करने का एक ज़रिया है. और वो लोगों की नज़रों में बने रहने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.