'आमिर पर भारी प्रतीक'

आमिर ख़ान और प्रतीक बब्बर
Image caption 'धोबी घाट' के प्रचार के दौरान आमिर ख़ान और प्रतीक बब्बर.

मिस्टर परफ़ेक्शनिस्ट आमिर ख़ान कोई किरदार निभाना चाहें और निर्देशक उन्हें वो रोल देने से इनकार कर दे. सुनने में अटपटा ज़रूर लगेगा, लेकिन ये बात बिलकुल सच है. ऐसी हिम्मत भला कौन दिखा सकता है.

दरअसल आमिर को ना कहने कहने वाली और कोई नहीं बल्कि उनकी पत्नी किरण राव हैं और ये बात ख़ुद आमिर ने पत्रकारों को बताई.

मुंबई में फ़िल्म 'धोबी घाट' के प्रमोशन के दौरान आमिर ने बताया, "इस फ़िल्म में मैं मुन्ना नाम का किरदार निभाना चाहता था. वो 18-20 साल का एक लड़का है. मैं ये रोल कर सकता हूं, ये साबित करने के लिए मैंने '3 इडियट्स' में एक कॉलेज छात्र का किरदार भी निभाया, लेकिन मेरी पत्नी किरण ने उसके बाद भी मुझे मुन्ना का रोल नहीं दिया."

आमिर कहते हैं कि उसके बाद मुन्ना के लिए प्रतीक बब्बर का चयन किया गया और आमिर ने फ़िल्म में दूसरा किरदार निभाया.

प्रतीक की तारीफ़ करते हुए आमिर कहते हैं, "वो बहुत प्रतिभाशाली कलाकार हैं. 'जाने तू या जाने ना' में उनका छोटा सा रोल था, लेकिन उसमें भी प्रतीक ने कमाल की ऐक्टिंग की. वो किसी भी निर्देशक के लिए एक ड्रीम ऐक्टर हैं."

प्रतीक भी आमिर ख़ान प्रोडक्शंस की इस फ़िल्म को लेकर बहुत उत्साहित हैं. वो कहते हैं "ये मेरे लिए बहुत गर्व की बात है कि मुझे इतने बड़े बैनर के साथ काम करने का मौक़ा मिला. आमिर मेरे लिए एक दोस्त, पिता और सलाहकार की तरह हैं. कुल मिलाकर वो मेरे पारिवारिक सदस्य जैसे हैं."

प्रतीक बब्बर मशहूर अभिनेता राज बब्बर और दिवंगत अभिनेत्री स्मिता पाटिल के पुत्र हैं.

संबंधित समाचार