बीबीसी टेक वन

कैटरिना कैफ इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption 'आइटम नंबर' नहीं बल्कि इस शब्द से परहेज़ है कैटरिना को

कैटरिना कैफ को भले ही शीला की जवानी जैसे गानों पर थिरकना अच्छा लगता हो लेकिन ऐसे गानों को जब लोग आइटम नंबर कहते हैं तो कैटरीना को बिलकुल अच्छा नहीं लगता.

आए दिन कैटरिना कैफ सुर्ख़ियों में होती हैं. कभी सलमान खान से अपने रिश्तों को लेकर तो कभी आयकर विभाग के छापे को लेकर. लेकिन कैटरिना कहती हैं कि उन्हें अब इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता. कैटरिना का मानना है की ख़बरें छापना तो मीडिया का काम है और मीडिया अपना काम तो करेगा ही.

कैटरिना कैफ की और भी बातें आप सुन सकते हैं इस हफ्ते बीबीसी टेक वन में.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

साथ ही कार्यक्रम में हैं अभिनेता शाहरुख खान भी हैं जो कहते हैं कि आजकल वो ये समझ ही नहीं पाते की किसकी जोड़ी किसके साथ है. लेकिन साथ ही वो ये भी कहते हैं कि जो भी प्यार में हैं, वो उन सबको अच्छे भविष्य की शुभकामनाएं देना चाहते हैं.

इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption अक्षय कहते हैं कि पटियाला हाउस क्रिकेट के बारे में नहीं बल्कि रिश्तों के बारे में है

रिश्तों की इस उधेड़ बुन पर प्रसून जोशी कहते हैं कि किसी भी रिश्ते को सफल बनाने के लिए दोस्ती ज़रूरी है.

साथ ही बीबीसी टेक वन में इस हफ्ते बात होगी अक्षय कुमार की फिल्म पटीयाला हाउस की भी. फिल्म का निर्देशन किया है निखिल अडवाणी ने.

फिल्म में अक्षय के पिता की भूमिका में हैं ऋषि कपूर. फिल्म की कहानी की अगर बात करें तो ये इंग्लैंड में बसे एक ऐसे युवक की कहानी है जो क्रिकेट खेलना चाहता है लेकिन उसके पिता नहीं चाहते की वो इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेले.

अक्षय कुमार कहते हैं कि ये फिल्म क्रिकेट के बारे में नहीं बल्कि रिश्तों के बारे में है.

फिल्म के बार में अपनी राय देते आप सुन सकते हैं फिल्म समीक्षक नम्रता जोशी को भी.

संबंधित समाचार