आजकल के कलाकारों की कोई इज़्ज़त नहीं: वैजयंतीमाला

वैजयंतीमाला बाली
Image caption वैजयंतीमाला बाली आज भी भरतनाट्यम पेश करती हैं.

एक ज़माने में बॉलीवुड की सबसे लोकप्रिय अभिनेत्रियों में एक वैजयंतीमाला बाली का कहना है कि बीते ज़माने के फ़िल्मी कलाकारों को जो इज़्ज़त दी जाती थी, वो आजकल के फ़िल्मी कलाकारों को नसीब नहीं है.

बीबीसी से ख़ास बात करते हुए वैजयंतीमाला कहती हैं, “हमारे समय में फ़िल्मी दुनिया में तमाम शरीफ़ लोग होते थे. इसी वजह से मैं 15 साल की कम उम्र में भी बिना किसी हिचक और डर के फ़िल्मों में कदम रख सकी.”

वो आगे कहती हैं कि आजकल फिल्मों में अभिनेत्रियों को अपना अभिनय दिखाने का मौका ही नहीं मिल पाता और उन्हें फ़िल्मों में सिर्फ़ ग्लैमर के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

लेकिन इसके बावजूद वैजयंतीमाला को श्रीदेवी और माधुरी दीक्षित जैसी अभिनेत्रियां ख़ासी पसंद हैं.

वैजयंतीमाला भरतनाट्यम में पारंगत हैं. उन्होंने देवदास, नागिन और ज्वेल थीफ़ जैसी कई फिल्मों में अपने डांस से लोगों का दिल जीत लिया. लेकिन वैजयंती माला को इस दौर की फ़िल्मों का नाच-गाना पसंद नहीं आता.

फ़िल्म जगत में कई साल बिताने के बाद जब वैजयंतीमाला की शादी हुई तो उन्होंने एक्टिंग छोड़कर सिर्फ भरतनाट्यम को ही अपनाने का फ़ैसला लिया.

इतने वर्षों के बाद आज भी वो रोज़ाना भरतनाट्यम का अभ्यास करती हैं और यहाँ तक कि मंच पर कार्यक्रम पेश भी करती हैं.

वैजयंतीमाला लोक सभा सांसद भी रह चुकी हैं और गॉल्फ़ की भी ख़ासी शौक़ीन हैं.

75 साल की उम्र में भी वो ये सब कैसे कर पाती हैं. ये पूछने पर वैजयंतीमाला ने इसका श्रेय अपने परिवार को दिया.

साथ ही वो कहती है, “जब किसी काम में मन लगता हो और उसे दिल लगाकर किया जाए तो उम्र बाधा नहीं बनती.”

संबंधित समाचार