अब कोई तमन्ना बाकी नहीं-कैलाश खेर

कैलाश खेर
Image caption कैलाश खेर अपनी कामयाबी का श्रेय भगवान को देते हैं.

गायक कैलाश खेर ने अपनी अलग तरह की आवाज़ के साथ गायकी के क्षेत्र में कदम रखा और थोड़े ही समय में अच्छी ख़ासी कामयाबी हासिल कर ली.

वो मौजूदा दौर के सबसे लोकप्रिय गायकों में से एक हैं. बीबीसी से अपने अब तक के सफ़र के बारे में ख़ास बात करते हुए कैलाश खेर कहते हैं, "मैं तक़रीबन सभी अच्छे गीतकारों और संगीतकारों के साथ काम कर चुका हूं. उन सभी के साथ मैंने बेहतरीन काम किया है. अब किसी ख़ास संगीतकार के साथ काम करने की मेरी कोई तमन्ना नहीं है."

उनके कैलासा चंदन में, कैलासा झूम रे, और कैलासा जैसे एलबम रिलीज़ हो चुके हैं.

इसके अलावा वो स्वदेस, देव, किसना, मंगल पांडे, सरकार, खोसला का घोंसला, फ़ना, कमीने, दिल्ली 6 और लव सैक्स और धोखा जैसी फ़िल्मों के गानों में अपनी आवाज़ का जादू बिखेर चुके हैं.

कैलाश कहते हैं, "मुझ पर भगवान की विशेष कृपा रही है. पहले मुझे लगता था कि मैं ज़िंदगी में कुछ भी नहीं कर पाऊंगा. और अब मेरे पास इतना ज़्यादा काम है कि वक़्त की कमी की वजह से लोगों को अब मना करना पड़ता है"

कैलाश खेर के मुताबिक़ उन्होंने अपनी ज़िंदगी के शुरुआती दिनों में बहुत दुख और तकलीफ़ें झेली थीं. उस वक़्त भी उन्हें किसी पर गुस्सा नहीं आता था. उस वक़्त भी उन्हें भगवान से कोई शिकायत नहीं थी.

वो कहते हैं, "अगर आपने दुख और तकलीफ़ों वाले दौर को आसानी से झेल लिया तो आपको आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता. अपने मां-बाप के दिए संस्कारों की वजह से इतनी कामयाबी मिलने के बाद भी मेरे पैर ज़मीन पर ही है."

अपनी लोकप्रियता की वजह बताते हुए कैलाश कहते हैं, "मुझे लगता है कि लोग मेरी आवाज़ से जुड़ाव महसूस करते हैं. उन्हें अपनेपन का एहसास होता है. शायद इसलिए वो मुझे सुनना पसंद करते हैं."

संबंधित समाचार