एलिज़ाबेथ टेलर का निधन

एलिजाबेथ टेलर इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption एलिज़ाबेथ टेलर बेहतरीन अभिनेत्रियों में गिनी जाती हैं.

बीसवीं सदी की जानी मानी हॉलीवुड अदाकारा डेम एलिज़ाबेथ टेलर का लास एंजेलिस में निधन हो गया है.

वो 79 वर्ष की थीं. एलिज़ाबेथ ने दो बार ऑस्कर पुरस्कार जीता है और वो लंबे समय से बीमार चल रही थीं.

उनका निधन संभवत दिल का दौरा पड़ने से हुआ है.

एलिजा़बेथ की पब्लिसिटी करने वाले ने बताया कि जब एलिज़ाबेथ ने अंतिम सांस ली तो उनके चारों बच्चे उनके साथ थे.

एलिज़ाबेथ के पुत्र माइकल विल्डिंग ने एक बयान जारी कर कहा है कि उनकी मां एक असाधारण महिला थीं जिन्होंने अपनी पूरी ज़िंदगी को जिया.

असाधारण महिला

विल्डिंग का कहना था, ‘‘ हम तो बस ये जानते हैं कि अगर मां ज़िंदा होतीं तो दुनिया हमारे लिए और ख़ूबसूरत होती. उन्होंने जो काम किया वो अमर है. उनकी आत्मा हमेशा हमारे साथ रहेगी और हमारे प्रति उनका प्यार भी.’’

एलिज़ाबेथ ने क्लियोपेट्रा और नेशनल वेलवेट जैसी जानी मानी फ़िल्मों में काम किया और अपने काम की छाप छोड़ी.

एलिज़ाबेथ को उनके ग्लैमर और ज़बर्दस्त जीवन शैली के लिए जाना जाता है. रिचर्ड बर्टन के साथ उनका अफेयर काफ़ी चर्चित रहा और उनके जीवन में उनके सात पति रहे.

अपने चरम पर एलिज़ाबेथ को बेहतरीन अभिनेत्री और सबसे सुंदर महिला के रुप में जाना जाता था.

मात्र 12 साल की उम्र में ही एलिज़ाबेथ ने नाम कमाना शुरु किया और जीवन के अंत तक वो लाइमलाइट में रहीं.

दो बार ऑस्कर

पचास के दशक में उन्हें चार बार ऑस्कर के नामांकन मिले. आखिरकार बटरफील्ड 8 के लिए उन्हें ऑस्कर मिला.

इसके बाद 1967 में उन्हें हू इज़ अफ्रेड ऑफ वर्जीनिया वुल्फ़ के लिए फिर ऑस्कर मिला. ये फ़िल्म रिचर्ड बर्टन के साथ थी और आगे चलकर बर्टन और एलिज़ाबेथ ने साथ में 12 फ़िल्में की.

1963 में क्लियोपेट्रा के निर्माण के दौरान बर्टन और एलिज़ाबेथ की मुलाक़ात हुई थी और उसके बाद दोनों के रोमांस का एक लंबा दौर चला.

1963 तक एलिज़ाबेथ चार बार शादी कर चुकी थीं लेकिन 1964 में उन्होंने बर्टन से शादी की.

दोनों के रिश्ते अच्छे रहे फिर ख़राब हुए, तलाक हुआ और फिर 1975 में दोनों ने दोबारा शादी की. हालांकि बाद में एलिज़ाबेथ ने दो आर शादियां कीं.

अस्वस्थता

एलिज़ाबेथ के स्वास्थ्य की समस्याएं उनकी पहली ही फ़िल्म से शुरु हो गईं थी जिन्होंने जीवन भर उनका साथ नहीं छोड़ा.

1961 में उन्हें जानलेवा निमोनिया हुआ जबकि वो शराब और दर्दनाशकों के ओवरडोज़ की समस्या से जूझ रही थीं.

सात साल पहले यानी 2004 में पता चला कि उनके दिल में समस्या है.

बीमारियों के बावजूद वो एड्स के लिए चैरिटी का काम करती रहीं. एड्स के लिए चैरिटी उन्होंने 1991 में उस समय शुरु की जब उनके मित्र रॉक हडसन की एड्स के कारण मौत हुई.

संबंधित समाचार