मुझसे अच्छा कौन है: सलमान ख़ान

सलमान ख़ान-असिन इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption 'रेडी' के म्यूज़िक लॉन्च पर सलमान ख़ान और असिन.

याद कीजिए हिंदी फ़िल्मों में 70 और 80 के दशक का वो दौर जिसमें अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र और विनोद खन्ना सरीखे 'हीरो' पर्दे पर एक साथ 15-20 गुंडों को धूल चटा देते थे.

वो अकेले दम पर खलनायक के अड्डे को तबाह कर उसे पुलिस के हवाले कर देते थे.

लेकिन 90 के दशक की शुरुआत से हिंदी फ़िल्मों में रोमांस हावी हो गया और 70 और 80 के दशक का परंपरागत 'हीरो' धीरे-धीरे ग़ायब होने लगा.

अब अभिनेता सलमान ख़ान चाहते हैं कि दोबारा उस 'हीरो' की पर्दे पर वापसी हो.

मुंबई में अपनी आने वाली फ़िल्म 'रेडी' के म्यूज़िक लॉन्च पर पहुंचे सलमान ने कहा, "हिंदी फ़िल्मों से हीरोइज़्म ख़त्म हो रहा है. मैं वापस उस हीरो को पर्दे पर देखना चाहता हूं. लोग थिएटर से फ़िल्म देखकर लौटें तो वो भी अपने आपको हीरो समझें."

सलमान ने हंसते हुए कहा कि "मैं उस हीरो को वापस पर्दे पर लाऊंगा. भला मुझसे अच्छा हीरो आज के ज़माने में कौन है."

दरअसल 'रेडी' 2008 सुपरहिट तेलुगू फ़िल्म 'रेडी' की रीमेक है. इससे पहले सलमान ख़ान की सुपरहिट फ़िल्म 'वॉन्टेड' भी एक तमिल फ़िल्म का रीमेक थी. सलमान के मुताबिक़ दक्षिण भारतीय फ़िल्मों में हीरो को जिस तरह से पेश किया जाता है वो उन्हें ख़ासा पसंद है. उनमें हीरो को बहुत बहादुर बताया जाता है जो एक साथ कई गुंडों से मोर्चा लेकर उन्हें धूल चटा देता है.

'रेडी' में भी सलमान का किरदार कुछ ऐसा ही है. इससे पहले साल 2010 की सबसे बड़ी हिट फ़िल्म 'दबंग' में भी सलमान ने कुछ ऐसी ही भूमिका अदा की थी. उसमें उन्होंने पुलिस इंस्पेक्टर की भूमिका अदा की है.

'रेडी' के निर्देशक अनीस बज़्मी हैं और इसमें सलमान के साथ असिन की भी मुख्य भूमिका है.

दिलीप कुमार जैसा कोई नहीं

Image caption सलमान ख़ान अभिनेता दिलीप कुमार के बहुत बड़े प्रशंसक हैं.

फ़िल्म 'रेडी' के एक गाने में सलमान ख़ान एक अलग अंदाज़ में नज़र आएंगे. इसमें वो राज कपूर, दिलीप कुमार और धर्मेंद्र जैसे बीते ज़माने के कलाकारों के सुपरहिट गानों पर उन्हीं की वेशभूषा में नज़र आएंगे.

सलमान ख़ान ने कहा, "इसे नकल या कुछ और नहीं माना जाना चाहिए. मैं इन सभी महान कलाकारों की बेहद इज़्ज़त करता हूं. और उनको आदर देने के लिए ये गाना किया है."

सलमान ने बताया कि दिलीप कुमार की 'गंगा जमुना' उन्होंने कई बार देखी है.

वो कहते हैं, "गंगा-जमुना में दिलीप कुमार के अभिनय का जवाब ही नहीं है. कोई भी कलाकार दिलीप साहब के अभिनय के आसपास भी नहीं पहुंच सकता है."

संबंधित समाचार