ग़रीबी हटाने के लिए तैयार ‘शैतान’!

इमेज कॉपीरइट PR Agency

फ़िल्ममेकर अनुराग कश्यप उम्मीद कर रहे हैं कि उनकी नई फ़िल्म ‘शैतान’ कुछ हद तक उनकी ग़रीबी कम करेगी. हर निर्माता की तरह अनुराग को भी लगता है कि ये फ़िल्म खूब पैसा कमाएगी.

अनुराग ने बताया कि उन्होंने इस फ़िल्म को बनाते वक्त ये ख़्याल रखा कि फ़िल्म कम खर्च में तैयार हो ताकि मुनाफ़ा होने की संभावना बढ जाए. इस फ़िल्म का निर्देशन बिजोय नांबियार ने किया है. .

दिल्ली में फ़िल्म के प्रमोशन के दौरान अनुराग से पत्रकारों ने पूछा कि इन दिनों वो निर्देशक से ज़्यादा निर्माता की भूमिका में क्यों दिखाई दे रहे हैं.

इस सवाल के जवाब में अनुराग कहते हैं “ये फ़िल्म मेरा ग़रीबी हटाओ आंदोलन है.बॉलीवुड में लोग करोड़ों के बजट की फ़िल्म बनाते हैं.ये फ़िल्म लगती बड़े बजट की है लेकिन है नहीं.”

साथ ही अनुराग कहते है कि भले ही फ़िल्म शैतान को बनाने में पैसा कम खर्च किया गया हो लेकिन ये फ़िल्म बॉलीवुड में बनी बेहतरीन फ़िल्मी में शुमार होगी.

इस फ़िल्म मे अनुराग कश्यप की पत्नी कल्कि कोचलिन हीरोइन की भूमिका में हैं.

अनुराग के अनुसार शैतान जैसी फ़िल्म को देखने के बाद उन्हे इस तरह की फ़िल्म से ईर्ष्या होती है.

अनुराग कहते हैं, “बिजोय नांबियार ने इस फ़िल्म का बेहतरीन निर्देशन किया है.और इस फ़िल्म ने मुझे चुनौती दी है. मेरी कोशिश होगी की मेरी अगली फ़िल्म इस से बेहतर हो.”

अनुराग मानते हैं कि भारतीय सिनेमा बदल रहा है और निर्देशकों को भी समय के साथ बदलना चाहिए.

अनुराग कहते हैं “मुझे लगता है कि सिनेमा बदल रहा है.जल्द ही हमारी फ़िल्मों की कहानियां और स्तर दुनिया के बेहतरीन सिनेमा जैसा होगा.”

हालांकि वो ये स्पष्ट करना नहीं भूले कि उनके कहने का मतलब ये नहीं है कि भारतीय फिल्मों का मौजूदा स्तर बुरा है.

संबंधित समाचार