'सरकार भी जल्दी काम कराने के ज़्यादा पैसे लेती है'

फ़िल्म चला मुसद्दी ऑफ़िस ऑफ़िस का पोस्टर इमेज कॉपीरइट PR Agency

अगर आपको सालों पहले आया टीवी सीरियल ‘ऑफ़िस ऑफ़िस’ और उसका मुख्य किरदार मुसद्दी लाल पसंद आया था तो अब आप उसका मज़ा एक बार फिर उठा सकते हैं.

लेकिन इसके लिए आपको सिनेमाघर जाना पड़ेगा. फ़िल्म का नाम है ‘चला मुसद्दी ऑफ़िस ऑफ़िस’ और ये 5 अगस्त को रिलीज़ हो रही है.

सीरियल की ही तरह फ़िल्म के निर्माता-निर्देशक राजीव मेहरा हैं. ये वर्ष 2001 में शुरु हुआ था और लंबे समय तक इसका प्रसारण हुआ. राजीव ने बताया, “इस सीरियल के केंद्र में मुसद्दी लाल के रूप में एक आम आदमी था. हमने एक व्यंग्य बनाया था जिसमें दिखाया गया था कि कैसे आम आदमी अपने देश में सरकारी तंत्र से परेशान रहता है.”

राजीव आगे कहते हैं, “हमारे यहां कोई भी काम कराने में मुश्किलें आती हैं, ख़ासकर अगर आपको काम जल्दी कराना तो कहा जाता है कि आपको ऐसा करना पड़ेगा, वैसा करना पड़ेगा, जबकि ऐसा होना नहीं चाहिए. यहां तक कि अब तो सरकार ने भी तत्काल सेवा शुरु कर दी है कि जल्दी काम कराने के लिए ज़्यादा पैसे देने पड़ेंगे. लेकिन बात वहां भी ख़त्म नहीं होती क्योंकि मुश्किलें उसके बाद भी आती हैं.”

फ़िल्म के बारे में राजीव मेहरा का कहना है, “फ़िल्म की मूल कहानी सीरियल की ही है लेकिन कोई भी सीक्वेन्स सीरियल वाला नहीं है, उससे बिल्कुल फ़र्क है. फ़िल्म में बिल्कुल नई कहानी है, हालांकि ये मुसद्दी लाल का सफ़र ही है.”

एक और बात जो सीरियल और फ़िल्म में सामान है वो है इसकी स्टार कास्ट. सीरियल की ही तरह फ़िल्म में भी मुसद्दी लाल के मुख्य किरदार में पकंज कपूर ही हैं. इसके अलावा देवेन भोजानी, आसावरी जोशी और मनोज पाहवा भी फ़िल्म में नज़र आएंगे.

कास्ट के बारे में राजीव का कहना था, “हमने ज़्यादातर वही सीरियल वाले कलाकार रखे हैं. दर्शकों ने इन्हें सीरियल में पसंद किया था. फिर हम क्यों नए चेहरे लाएं क्योंकि नए लोग कितने भी बढ़िया क्यों न हों, लोग पुराने कलाकारों से तुलना करेंगे. वैसे भी ये बहुत बढ़िया और प्रतिभाशाली कलाकार हैं. मैं बहुत ख़ुशकिस्मत हूं कि मुझे एक साथ इतने बढ़िया कलाकार एक साथ मिले.”

फ़िल्म में पटेल नाम का किरदार निभाने वाले देवेन भोजानी को उम्मीद है कि दर्शकों को फ़िल्म बहुत पसंद आएगी.

देवेन कहते हैं, “जब दर्शक सीरियल को पसंद करते हैं तो उसको फ़िल्म के रूप में भी देखने में उन्हें मज़ा आता है. सीरियल की जो बातें लोगों को सबसे ज़्यादा पसंद थीं वो हमने फ़िल्म में बरक़रार रखी हैं लेकिन इसके साथ कुछ नई ताज़गी भी लाने की कोशिश की है. मुझे लगता है कि दर्शक को ये फ़िल्म बहुत पसंद आएगी और जितनी उनकी उम्मीद है उससे भी दुगुना मनोरंजन उन्हें मिलेगा.”

संबंधित समाचार