बीबीसी सेवेंटी एमएम

संजय दत्त इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption संजय दत्त

इस हफ़्ते बीबीसी सेवेंटी एमएम में इस हफ़्ते रिलीज़ हुई फिल्मों और बॉलीवुड की दुनिया की कुछ ताज़ा तरीन बातें.

नीरज ग्रोवर हत्याकांड से प्रेरित इस हफ़्ते रिलीज़ हुई राम गोपाल वर्मा की 'नॉट ए लव स्टोरी'. क़रीब चार साल पहले टीवी प्रोड्यूसर नीरज ग्रोवर के क़त्ल पर आधारित इस फ़िल्म के ज़रिए रामू ने उन दो लोगों के दिमाग़ में घुसने की कोशिश की है जो इस हत्याकांड में शामिल थे.

दिल दहलाने वाली इस फ़िल्म में कुछ ऐसे लम्हे हैं जहां शायद आप अपनी आँखें मूँद लें लेकिन अंत में रामू की 'फ़िल्म मेकिंग' की तारीफ़ ज़रूर करेंगे. हमारी बीबीसी फ़िल्म क्रिटिक नम्रता जोशी ने क्या कहा फ़िल्म के बारे में वो सुनिए सेवेंटी एमएम में.

दूसरी फ़िल्म जो रिलीज़ हुई वो है 'चतुर सिंह टू स्टार'.

ये एक 'एक्शन कॉमेडी' है जिसमें नज़र आ रहे हैं संजय दत्त और गुलशन ग्रोवर. फ़िल्म की पटकथा बेहद ही कमज़ोर है और पूरे ढाई घंटे में मुश्किल से ही कोई ऐसा सीन है जो आपके चेहरे पर हंसी ला पाए. हमारी बीबीसी फ़िल्म क्रिटिक नम्रता की राय और जनता की राय क्या है वो सुनिए कार्यक्रम में.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कार्यक्रम में याद करेंगे मशहूर अभिनेता शम्मी कपूर को. १४ अगस्त की सुबह शम्मी जी हमें हमेशा के लिए छोड़ गए . शम्मी कपूर हिंदी फिल्म जगत के बेहद चहेते अभिनेता रहे.

50 और 60 के दशक में राज कपूर, देव आनंद और दिलीप कुमार जैसे अभिनेताओं का बोलबाला था....लेकिन ज़्यादातर फ़िल्मों में नायक एक स्टीरियोटाइप छवि में बंधे हुए थे.

पर शम्मी कपूर ने अपनी फ़िल्मों में बग़ावती तेवर और रॉकस्टार वाली छवि से उस दौर के नायकों को कई बंधनों से आज़ाद कर दिया था. हिंदी सिनेमा को ये उनकी बड़ी देन थी. ये बात और है कि उनके जैसे किरदार दूसरा कोई नहीं निभा पाया. बीबीसी सेवेंटी एमएम में याद करेंगे हम शम्मी कपूर को.

साथ ही साथ सुनिए इस हफ़्ते की ताज़ी खबरें बॉलीवुड से सिर्फ बीबीसी सेवेंटी एमएम में.

संबंधित समाचार