अमिताभ को मिलना चाहिए भारत रत्न: लता

लता मंगेशकर इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption लता मंगेशकर को 2001 में भारत रत्न से नवाज़ा गया था.

सुर साम्राज्ञी भारत रत्न लता मंगेशकर कहती हैं कि अमिताभ बच्चन का हिंदी सिनेमा जगत को जो योगदान है वो अमूल्य है.

लता जी कहती हैं, ''अमिताभ बच्चन इस उम्र में भी काम कर रहे हैं. काम के प्रति उनका उत्साह देखते ही बनता है, मुझे लगता है कि उन्हें भारत रत्न मिलना चाहिए.''

हाल ही में अपना 82वां जन्मदिन मनाया लता मंगेशकर ने. उनके जन्मदिन के मौके पर एक म्यूज़िक रिकॉर्ड कंपनी ने लता जी के मराठी भाषा में गाये गानों का एक एल्बम निकला. लता जी ने बताया की इस एल्बम में 1942 से लेकर आज तक के उनके गाये हुए सारे मशहूर गाने हैं.

इस मौके पर जब लता मंगेशकर से पूछा गया कि उनके गाये हुए अनगिनत गानों में उनका सबसे पसंदीदा गाना कौन सा है, तो वो बोलीं, ''सभी गाने अच्छे है, हर गाना अपनी जगह ख़ास है, और ये कहना बेहद मुश्किल है कि कौन सा गाना मेरे दिल के क़रीब है.''

अपने छ: दशकों से भी लंबे करियर को बयान करते हुए लता जी कहती हैं, ''मैंने पांच साल की उम्र से गाना सीखना शुरू किया. जब मैं आठ साल की थी तो मैंने पहली बार मंच पर काम किया. मेरे पिताजी की ड्रामा कंपनी थी उसी में मैंने पहली बार काम किया. और ये बात 1938 की है. और बस तब से मैं गा रही हूं.''

साथ ही लता जी कहती हैं, ''जब में अपने सफ़र की ओर देखती हूं तो बस मुझे यही लगता है कि ये भगवन की इच्छा थी वो मुझसे ये सब करवाना चाहता थे. और मैं बस ये सब करती चली गई.''

अपनी मखमली आवाज़ के बारे में भी लता जी बड़ी ही विनम्रता के साथ कहती हैं, ''मैं नहीं जानती की मेरी आवाज़ के पीछे क्या रहस्य है, शायद ये ऊपर वाले की ही मर्ज़ी है, जो मेरी आवाज़ उम्र के साथ साथ बढती नहीं.''

जब लता मंगेशकर से पूछा गया कि अपने अलवा उन्हें किस गायक की आवाज़ पसंद है, तो लता जी ने मशहूर गायिका नूरजहां और बड़े ग़ुलाम अली साहब का नाम लिया.

आजकल के गायकों के बारे में लता जी कहती हैं, ''नए गायक सभी अच्छे हैं, लेकिन मुसीबत ये है कि आजकल फ़िल्मों में संगीत होता ही नहीं है, बस दो-तीन डांस नंबर होते हैं. पहले ऐसा नहीं था, मुझे याद है ‘मुग़ल-ए-आज़म’ में मेरे 12 गाने थे. उस वक़्त लोग गाने ज़्यादा सुनते थे, और बनाने वाले भी बड़ा दिल लगाकर गाने बनाते थे, लिखने वाले भी अच्छे गाने लिखते थे. आजकल तो संगीत का पूरा हिस्सा बैठ गया है. गायक कितने भी अच्छे हो उन्हें अपना हुनर दिखने का मौका ही नहीं मिलता.''

जब लता जी से पूछा गया कि क्या किसी फ़िल्म में उनकी आवाज़ सुनाई देगी, तो उन्होंने कहा, ''अगर कभी ऐसी फ़िल्म आई जिसके लिए मुझे गाने का दिल हुआ तो मैं ज़रूर गाऊंगी.''

संबंधित समाचार