सिर्फ़ प्रचार ही कामयाबी की गारंटी नहीं- इम्तियाज़ अली

इम्तियाज़ अली इमेज कॉपीरइट pr

हिंदी सिनेमा के सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान ने अपनी फ़िल्म रा.वन के प्रचार के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा दिया.

पिछले कई महीनों से वो लगातार मीडिया के सामने आकर अपनी फ़िल्म का धुआंधार प्रमोशन करने में व्यस्त रहे.

दीवाली पर रिलीज़ हुई उनकी इस फ़िल्म को हालांकि बॉक्स ऑफ़िस पर शुरुआत तो अच्छी मिली लेकिन अभी इसको हिट या फ़्लॉप कहना बहुत जल्दबाज़ी होगी. लेकिन शाहरुख़ ने जिस तरीके से फ़िल्म का प्रचार किया उसने फिर इस बहस को जन्म दे दिया कि क्या महज़ प्रचार ही किसी फ़िल्म की कामयाबी सुनिश्चित करा सकता है. निर्देशक इम्तियाज़ अली इस बात से इत्तेफ़ाक नहीं रखते.

इम्तियाज़ की फ़िल्म 'रॉकस्टार' 11 नवंबर को रिलीज़ होने वाली है. उसी के बारे में पत्रकारों से बात करते हुए इम्तियाज़ ने कहा, "सिर्फ़ ज़बरदस्त मार्केटिंग किसी ख़राब फ़िल्म को कतई नहीं चला सकती. मेरे हिसाब से तो अच्छे प्रचार का मतलब है कि लोगों सही जानकारी बताया जाए कि फ़िल्म किस बारे में है. क्योंकि जो इंसान 250 रुपए खर्च करके फ़िल्म देखने जा रहा है उसे हक़ है ये जानने का कि फ़िल्म किस बारे में है."

इम्तियाज़ के मुताबिक़ ज़रूरत से ज़्यादा प्रचार भी ठीक नहीं है. इसमें संतुलन का होना बहुत ज़रूरी है.

इम्तियाज़ अली निर्देशित 'रॉकस्टार' 11 नवंबर को रिलीज़ हो रही है. इसमें रणबीर कपूर और नरगिस फ़ाकरी ने मुख्य भूमिका निभाई है.

हालांकि इस फ़िल्म का प्रमोशन भी काफ़ी किया जा रहा है. फ़िल्म के सितारे रणबीर और नरगिस भारत के अलग-अलग शहरों का दौरा कर रहे हैं.

बतौर निर्देशक इम्तियाज़ की पहली फ़िल्म 'सोचा न था' थी. उसके बाद उन्होंने शाहिद कपूर, करीना कपूर की मुख्य भूमिका वाली जब वी मेट का निर्देशन किया जो सुपरहिट रही.

इम्तियाज़ निर्देशित ही लव-आजकल भी काफ़ी कामयाब रही. इसमें सैफ़ अली ख़ान और दीपिका पादुकोण की मुख्य भूमिका रही.

संबंधित समाचार