नौकरी पर भारी पड़ा छैया-छैया

नॉर्मन कपारू इमेज कॉपीरइट Youtube
Image caption नॉर्मन का छैया छैया वीडियो इतना लोकप्रिय हुआ कि उन्होंने कई टीवी शो पर जाकर हिंदी गाने गाए

यूँ तो इन दिनों 'कोलावेरी डी.' की गूँज भारत की सरहद पार करके दूसरे देशों में भी सुनाई पड़ रही है पर ज़रा याद कीजिए ट्रेन की छत पर शाहरुख़ ख़ान का छैया छैया. उस समय उस गाने ने भी काफ़ी लोकप्रियता हासिल की थी.

मगर उस गाने ने 13 साल बाद अब इंडोनेशिया में एक पुलिस अधिकारी की नौकरी ले ली है.

इस गाने ने इंडोनेशिया में नॉर्मन कपारू नाम के पुलिस अधिकारी को यूट्यूब के ज़रिए पहले तो सुपर स्टार बनाया और फिर वही लोकप्रियता उनकी नौकरी पर भारी पड़ गई.

दरअसल नॉर्मन यूट्यूब में एक वीडियो में चल छैया...छैया... गाने पर थिरकते और गुनगुनाते दिख रहे थे. ऐसा करते समय वो पुलिस की वर्दी में थे और ड्यूटी पर भी थे.

ये वीडियो यूट्यूब पर अपलोड हुआ और देखते-देखते देश में सबसे ज़्यादा देखा जाने वाला वीडियो बन गया.

लोकप्रिय

यूट्यूब पर लोकप्रिय हुआ तो सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर भी ये चल निकला. बस फिर क्या था नॉर्मन कपारू के फ़ैन्स की तादाद बढ़ती चली गई और उसके बाद से वह अब तक टीवी पर भी बहस के कई कार्यक्रमों में आ चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट Youtube
Image caption नॉर्मन की नौकरी गई क्योंकि वह दो महीने से काम पर गए ही नहीं

इतना ही नहीं वह कई कार्यक्रमों में हिंदी गाने गाते भी दिख रहे थे. एक टेलीविज़न शो में वह 'दिल ने ये कहा है दिल से...' गाना काफ़ी अच्छे सुर में गाते दिखे.

कुछ विश्लेषकों ने तो यहाँ तक कहा कि नॉर्मन के उस वीडियो ने पुलिस की छवि सुधारने में मदद की, जिसे देश में सबसे भ्रष्ट व्यवस्था के तौर पर देखा जाता है.

मगर उनकी इस लोकप्रियता की उन्हें क़ीमत चुकानी पड़ गई.

इस हफ़्ते उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया क्योंकि वह पिछले कुछ महीनों से काम पर गए ही नहीं.

उनके काम पर नहीं जाने की वजह क्या है ये तो स्पष्ट नहीं है मगर संभव है कि कपारू ने कोई बड़ी डील कर ली हो जिसके बाद उन्हें उस नौकरी की ज़रूरत ही नहीं रह गई हो या फिर वो शोहरत में कुछ इस क़दर डूब गए कि उन्हें नौकरी की परवाह ही नहीं रही.

संबंधित समाचार