अभिनेता जॉय मुखर्जी का निधन

इमेज कॉपीरइट Film Still

60 और 70 के दशक के मशहूर हिंदी फ़िल्म अभिनेता जॉय मुखर्जी का मुंबई में शुक्रवार दोपहर एक बजे निधन हो गया. वो 73 साल के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे.

बीमार होने के बाद उन्हें मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां वो वेंटिलेटर पर थे.

हाल ही में अभिनेता दिलीप कुमार उनका हालचाल जानने अस्पताल गए थे. उन्होंने एक मुसाफ़िर एक हसीना, फिर वही दिल लाया हूं, लव इन टोक्यो और शागिर्द जैसी यादगार फ़िल्में दीं.

उन पर फ़िल्माए गए और मोहम्मद रफ़ी के गाए कई गीत आज भी लोगों की ज़ुबां पर हैं, जैसे फिर वही दिल लाया हूं, बहुत शुक्रिया बड़ी मेहरबानी, ले गई दिल गुड़िया जापान की, दुनिया पागल है या फिर मैं दीवाना और बड़े मियां दीवाने ऐसे ना बनो.

जॉय मुखर्जी के परिवार का फ़िल्मों से काफी पुराना नाता रहा है. वो ख़ुद मशहूर अभिनेता अशोक कुमार के भांजे थे.

उनकी मां सती देवी अशोक कुमार की बहन थीं. उनके पिता शशाधर मुखर्जी भी फ़िल्मों से जुड़े थे. शशाधर मशहूर फ़िल्माल्य स्टूडियो के सह संस्थापक थे. जॉय मुखर्जी के भाई सोमू मुखर्जी अभिनेत्री तनूजा के पति थे.