सेंसरशिप ज़रूरी है- सैफ़ अली खान

सैफ अली खान इमेज कॉपीरइट PR Agency
Image caption 'एजेंट विनोद' 23 मार्च को रिलीज़ हो रही है.

अपनी नई फिल्म 'एजेंट विनोद' के लिए सेंसर बोर्ड से यू/ए सर्टिफिकेट पाने वाले अभिनेता सैफ अली खान कहते हैं कि उन्हें सेंसर बोर्ड पर पूरा यकीन है. सैफ मानते हैं कि जिस तरह की फिल्म होगी सेंसर से उसी तरह का सर्टिफिकेट पाएगी.

सैफ की फिल्म 'एजेंट विनोद' अगले हफ्ते 23 मार्च को रिलीज़ हो रही है.

सैफ कहते हैं, ''मेरा सेंसरशिप में पूरा विश्वास है. मैं सोचता हूँ कि अगर आपको अपनी फिल्म में गालियों का इस्तेमाल करना है, अगर वो कहानी की मांग है, अगर एक तरह के सच को दिखाने के लिए वो ज़रूरी है तो उस पर कोई रोक नहीं होनी चाहिए. सेंसरशिप तो होती ही इसलिए है कि अगर आपने गालियों का या फिर न्यूडिटि का इस्तेमाल किया है तो आपकी फिल्म को 'ए' सर्टिफिकेट मिले.''

सेंसर बोर्ड में सैफ के विश्वास की वजह शायद ये भी हो सकती है कि उनकी माँ अभिनेत्री शर्मीला टेगोर 2004 से 2011 तक सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष थी. अपनी फिल्म 'एजेंट विनोद' की बात करते हुए सैफ कहते हैं कि उनकी इस फिल्म का इंतेज़ार उनका बेटा बेसब्री से कर रहा है.

वो कहते हैं, ''इब्राहीम ने पहेली बार मुझसे कहा है कि उसकी क्लास के बच्चे उससे पूछ रहे हैं कि एजेंट विनोद कब रिलीज़ हो रही है. मेरे करियर में पहली बार मेरे बेटे ने कहा है कि उसके दोस्त देखना चाहते हैं एजेंट विनोद.''

अब क्योंकि एजेंट विनोद एक स्पाय फिल्म है तो इसमें मार-धाड़ और एक्शन का होना तो ज़रूरी है. सैफ कहते हैं, ''हां फिल्म में एक्शन है, जो बहुत कूल है लेकिन साथ ही वो असलियत से जुड़ा हुआ है. क्योंकि ये फिल्म एक एक्शन थ्रिलर है तो एक स्तर का एक्शन ज़रूरी था इस फिल्म के लिए.''

सैफ कहते हैं इस फिल्म में उन्होंने कई अंतर्राष्ट्रीय एक्शन निर्देशकों के साथ काम किया है. वो कहते हैं, ''हमनें फ़्रांस के एक्शन मास्टर्स के साथ काम किया है, अमरीकी एक्शन निर्देशक के साथ भी काम किया है. लेकिन मुझे ये कहना पड़ेगा सबसे अच्छा एक्शन हमारे भारतियों ने किया है.''

आजकल बॉलीवुड में हर दूसरी फिल्म का सीक्वल बन रहा है तो क्या 'एजेंट विनोद' का भी सीक्वल देखने को मिल सकता है.

इस सवाल का जवाब देते हुए सैफ कहते हैं, ''एजेंट विनोद का दूसरा भाग भी आ सकता है. अगर लोगों को ये फिल्म पसंद आती है तो हम सीक्वल के बारे में भी सोच सकते हैं. बहुत आसान होगा एजेंट विनोद का सीक्वल बनाना.''

संबंधित समाचार