शर्मनाक है एजेंट विनोद को बैन करना- सैफ़ अली ख़ान

एजेंट विनोद इमेज कॉपीरइट bbc

अभिनेता सैफ़ अली ख़ान, पाकिस्तान में अपनी फ़िल्म एजेंट विनोद पर लगे प्रतिबंध से हैरान हैं.

मुंबई में मीडिया से मुख़ातिब सैफ़ अली ख़ान ने कहा, "ये शर्मनाक है. हमने फ़िल्म में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कुछ नहीं दिखाया है. हम चाहते हैं कि पाकिस्तान के लोग ये फ़िल्म देखें. आप इसे देखें फिर फैसला करें."

सैफ़ इस फ़िल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे हैं, साथ ही वो फ़िल्म के निर्माता भी हैं.

उन्होंने आगे ये भी कहा, "हां हमने फ़िल्म में ये ज़रूर दिखाया है कि पाकिस्तान में कुछ ऐसे तत्व हैं जो भारत विरोधी हैं और ये तो सच्चाई ही है. फ़िल्म का हीरो रॉ एजेंट है जिसे हमें जीतते हुए दिखाना ही था. तो इसमें ग़लत क्या है."

सैफ़ ने बताया कि फ़िल्म की हीरोइन एक पाकिस्तानी लड़की का किरदार निभा रही है और फ़िल्म में कुछ भी पाकिस्तान विरोधी नहीं है.

सैफ़ ने आगे ये भी कहा कि पाकिस्तान में फ़िल्म को बैन कर दिया गया है और इन सब बातों से पायरेसी जैसी चीज़ों को बढ़ावा मिलता है, क्योंकि लोग तो फ़िल्म देखना ही चाहते हैं. अगर आधिकारिक तौर पर उन्हें देखने नहीं मिलेगी तो अनधिकृत रूप से यानी पायरेसी के ज़रिए वो इसे देखेंगे.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने एजेंट विनोद को पाकिस्तान में दिखाए जाने की अनुमति नहीं दी.

फ़िल्म इसी हफ़्ते 23 मार्च को रिलीज़ हो रही है. सेंसर बोर्ड ने इस बारे में आधिकारिक तौर पर तो कुछ नहीं कहा लेकिन समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ फ़िल्म में कथित तौर पर पाकिस्तान की खुफ़िया एजेंसी आईएसआई के बारे में कुछ बातें थीं जिनसे पाकिस्तान सेंसर बोर्ड को ये महसूस हुआ कि पाकिस्तान के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती थी.

एजेंट विनोद में सैफ़ अली खान के साथ करीना कपूर की भी मुख्य भूमिका है. इसका निर्देशन श्रीराम राघवन ने किया है.

संबंधित समाचार