रिमेक दिमागी कंगाली का प्रतीक: अन्नु कपूर

इमेज कॉपीरइट PR

बॉलीवुड में रिमेक फिल्मों का दौर चल रहा हैं और लोग एक के बाद एक रिमेक फ़िल्में बनाते जा रहे हैं.

मशहूर टीवी होस्ट और अभिनेता अन्नु कपूर के अनुसार ये चलन दिखाता है कि फ़िल्म निर्देशकों के पास विषयों की कमी है.

अन्नु कपूर कहते हैं, “जो लोग फ़िल्मों का रिमेक बना रहे हैं उनके लिए मैं यही कह सकता हूं कि शायद ये दिमागी कंगाली की निशानी है. आपके पास फ़िल्मों के विषय ही नहीं है.”

अन्नु कपूर कहते हैं कि कुछ लोगों ने तो इसे ही व्यापार का तरीका बना लिया है. वे कहते हैं,“लोग एक फ़िल्म बनाते हैं और फिर उसकी कड़ियां बनाते रहते हैं, उनके पास विषय नहीं हैं. बॉलीवुड में अध्यन, मनन और चिंतन की कमी है”

अन्नु कपूर के चाहते हैं कि वे एक फ़िल्म डायरेक्ट करें. जब उनसे पूछा गया होगा कि उनकी फ़िल्म किस विषय पर होगी तो अन्नु कपूर ने कहा, “जो भी फ़िल्म होगी, जो भी विषय होगा, इतनी गारंटी दे सकता हूं कि चोरी का माल नहीं होगा.”

गुरुवार को रिलीज़ हुई फ़िल्म ‘विक्की डोनर’ में अन्नु कपूर एक डॉक्टर की भूमिका निभा रहे हैं जो निसंतान दंपत्तियों को संतान पाने में मदद करते हैं.

अपनी फ़िल्म के बारे में अन्नु कपूर कहते है. “मुझे लगता हैं कि इस तरह के विषय पर बॉलीवुड में अभी कोई फ़िल्म बनी नहीं हैं और मुझे लगता हैं कि इसी वजह से लोगों में इस बात को लेकर उत्सुक्ता है. खास बात ये हैं कि ये विषय समाज में अनछुआ हैं इस वजह से लोगों की उत्सुकत्ता बढ़ जाती हैं.”

उनके अनुसार इस फ़िल्म में कोई संदेश देने की कोशिश नहीं की गई हैं. अन्नु कपूर मानते हैं कि लोग फ़िल्मों से मनोरंजन की उम्मीद करते हैं ना कि किसी संदेश की.

फ़िल्म अभिनेता जॉन अब्राहम ‘विक्की डोनर’ के निर्माता हैं और ये उनकी पहली फ़िल्म है.

संबंधित समाचार