मैं बेकार रहना चाहता हूं: फ़ारुख शेख

मशहूर अभिनेता फ़ारुख शेख इस हफ्ते रिलीज़ हुई फ़िल्म शंघाई में दिखाई दे रहे हैं. फ़ारुख शेख के अनुसार वो आलसी हैं और यही वजह है कि वो बहुत कम फ़िल्मों में दिखाई दते हैं.

बीबीसी से विशेष बातचीत में जब फ़ारुख शेख से पूछा गया कि वो बहुत कम फ़िल्म क्यों करते हैं, तो फ़ारुखशेख ने जवाब दिया, “हर रोज़ नौ बजे दफ़्तर निकलना मुझे रास नहीं आता है. मैं थोड़ा काम करता हूं और फिर खासा वक्त बेकार रहना भी चाहता हूं.”

फ़ारुखशेख कहते हैं, “बहुत कम फ़िल्में करने की ये सबसे बड़ी वजह है ये तो मैं नहीं कह सकता, हां ये जरुर कह सकता हूं कि ये एक वजह ज़रुर है.”

फ़ारुख शेख कहते हैं कि शुरुवाती दिनों से उनकी आदत बन गई हैं कि वो एक समय में एक ही काम करते हैं.

फ़ारुख कहते हैं, “मैं अगर फ़िल्म करता हूं तो फ़िल्म ही करता हूं और अगर टीवी करता हूं तो मैं टीवी ही करता हूं. दोनो काम साथ करने की मेरी आदत नहीं है.”

फ़िल्म शंघाई में अपने रोल के बारे में फ़ारुख खेश कहते हैं, “शंघाई में मेरी भूमिका बहुत सीमित हैं. इस फ़िल्म में इस रोल के माध्यम से जो बात कही जा रही हैं मैं उस बात से सहमत हूं और फ़िल्म निर्देशक के तौर पर दिबाकर बैनर्जी की बहुत इज़्जत करता हूं इसीलिए मैं ये फ़िल्म कर रहा हूं.”

टीवी पर भी फ़ारुख शेख की पारी शानदार रही थी तो क्या अब वो टीवी पर दिखाई देगें. इस सवाल के जवाब में फ़ारुख शेख कहते हैं, “अभी तो मैं फ़िल्म कर रहा हूं, इसके बाद अगर कोई दिलचस्ब चीज आई तो मैं ज़रुर टीवी करुंगा.”

दिबाकर बैनर्जी की फिल्म 'शंघाई' में मुख्य भूमिका में हैं इमरान हाश्मी और अभय देओल.ये फ़िल्म इसी हफ्ते बडे पर्दे पर पहुंची हैं.

संबंधित समाचार