संगीत बिरादरी का संसद को 'शुक्राना'

 गुरुवार, 23 अगस्त, 2012 को 12:07 IST तक के समाचार
ए आर रहमान

ए आर रहमान संसद में संगीत बिरादरी के एक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.

एआर रहमान, जावेद अख्तर, गुलजार, विशाल भारद्वाज, शंकर, एहसान और लॉय एवं पंडित हरिप्रसाद चौरसिया जैसी संगीत से जुड़ी कई बड़ी हस्तियां गुरूवार शाम संसद में इकट्ठी हो रही हैं. ये तमाम लोग सांसदों के समक्ष एक संगीतमय कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे.

सुनीधि चौहान और सोनू निगम जैसे प्रख्यात बॉलीवुड गायक भी कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे.

दरअसल ये सभी कलाकार, कॉपीराइट अमेंडमेंट बिल के संसद में पास होने पर सभी सांसदों को अपना शुक्रिया अदा करने के उद्देश्य से ये कार्यक्रम पेश कर रहे हैं.

"ये हमारा तरीका है सरकार और सभी सांसदों को धन्यवाद कहने का. कॉपीराइट बिल संसद में सर्वसम्मति से पास हुआ. जिससे पूरी संगीत बिरादरी का बहुत भला हुआ है. खासतौर से हमारे बुजुर्ग गीतकार और संगीतकार जिन्हें उनके पुराने कामों की भी रॉयल्टी मिलनी शुरू हो जाएगी."

शंकर महादेवन, गायक और संगीतकार

बीबीसी से खास बात करते हुए संगीतकार और गायक शंकर महादेवन कहते हैं, "ये हमारा तरीका है सरकार और सभी सांसदों को धन्यवाद कहने का. कॉपीराइट बिल संसद में सर्वसम्मति से पास हुआ. जिससे पूरी संगीत बिरादरी का बहुत भला हुआ है. खासतौर से हमारे बुजुर्ग गीतकार और संगीतकार जिन्हें उनके पुराने कामों की भी रॉयल्टी मिलनी शुरू हो जाएगी."

इस कार्यक्रम में हिंदी फिल्मों के नए और पुराने गाने पेश किए जाएंगे. साथ ही जावेद अख्तर, गुलजार और प्रसून जोशी जैसे गीतकार कविता पाठ भी करेंगे.

कार्यक्रम प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवप्रसाद शर्मा और बांसुरी वादक पंडित हरिप्रसाद चौरसिया की जुगलबंदी के साथ शुरु होगा.

कॉपीराइट बिल

गौरतलब है कि इसी साल कॉपीराइट बिल पहले 17 मई को राज्यसभा में और बाद में 22 मई को लोकसभा में पास हुआ था.

इसके साथ ही ये विधेयक कानून बन गया.

इस बिल के मुताबिक अब कोई भी गाना या संगीत की कोई भी रचना, फिल्म के अलावा जहां-जहां बजेगा. जैसे रेडियो पर या टेलीविजन पर या फिर किसी स्टेज शो में परफॉर्म किया जाएगा या मोबाइल रिंग टोन के रूप में इस्तेमाल होगा, उसकी रॉयल्टी का हिस्सा गीतकार और संगीतकार को भी मिलेगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.