मुझे अगला सलमान खान नहीं बनना: इमरान

 बुधवार, 5 सितंबर, 2012 को 11:52 IST तक के समाचार
इमरान हाशमी

राज 3 का निर्देशन विक्रम भट्ट ने किया है.

इस हफ्ते सिनेमाघरों में पहुंच रही है इमरान हाशमी की राज 3. बीते कुछ सालों में इमरान की फिल्मों जैसे वंस अपॉन अ टाइम इन मुंबई, जन्नत 2 और द डर्टी पिक्चर को बॉक्स ऑफिस पर बेहतरीन कामयाबी मिली है. ऐसे में राज 3 को भी टिकट खिड़की पर अच्छी शुरुआत मिलने की उम्मीद की जा रही है.

राज 3 एक हॉरर फिल्म है और फिल्म में इमरान के साथ हैं बिपाशा बसु और ईशा गुप्ता. फिल्म को प्रमोट करने इमरान जब दिल्ली पहुंचे तो उनसे ये सवाल पूछ ही लिया गया, कि जिस तरह से उनकी फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर बेहतरीन शुरुआत मिल रही है तो क्या वो बॉलीवुड के अगले सलमान खान हैं?

इस सवाल का जवाब कुछ इस अंदाज में दिया इमरान हाशमी ने, ''मैं तो ऊपर वाले से यही दुआ मांगूगा कि मेरी फिल्मों को बम्पर ओपनिंग मिले लेकिन मैं अगला 'कोई' नहीं बनना चाहता. मैं तो ये भी नहीं चाहता कि कोई नया कलाकार ये कहे कि वो अगला इमरान हाशमी बनना चाहता है. इंडस्ट्री में हर कलाकार की अपनी पहचान है.''

इमरान ने अगला सलमान खान बनने से भले ही साफ इंकार कर दिया लेकिन सलमान की तारीफ किए बिना रह नहीं पाए. उन्होंने कहा, ''सलमान खान को इंडस्ट्री में 20 साल से ज्यादा हो गए हैं. मैं उनके काम की बड़ी तारीफ करता हूं. हमेशा से ही सलमान की फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर कमाल किया है. सलमान की फिल्में तो अच्छे बॉक्स ऑफिस प्रदर्शन की गारंटी के साथ आती हैं.''

इमरान आगे कहते हैं, ''मेरी फिल्म जन्नत 2 को बॉक्स ऑफिस पर सराहा गया था. मैं तो बस यही प्रार्थना कर रहा हूं कि राज 3 को जन्नत से दोगुनी ओपनिंग मिले. कहने का मतलब ये कि मेरा पैमाना किसी और फिल्म का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन नहीं बल्कि मैं तो अपनी नई फिल्म की तुलना अपनी पुरानी फिल्म से करना ही बेहतर समझता हूं. बॉक्स ऑफिस पर होने वाली कमाई तो अपनी जगह ठीक है लेकिन मेरे लिए फिल्म का अच्छा होना भी बेहद जरूरी है और राज 3 एक बढ़िया फिल्म है.''

"''मैं तो शुरुआत से ही चाहता था कि मैं एक लोकप्रिय अभिनेता बनूं. अपने करियर की शुरुआत में मैंने जैसी फिल्में की उन्होंने मुझे झट से जनता के बीच लोकप्रिय कर दिया. लेकिन अब शंघाई, जन्नत 2 और राज जैसी फिल्मों के साथ मेरा दायरा बड़ा है. अब मल्टीप्लेक्स में आनेवाले दर्शक भी मुझे स्वीकार कर रहे हैं."

इमरान हाशमी

इमरान साथ में ये भी कहते हैं कि कभी-कभी ऐसा भी होता है कि किसी एक अभिनेता की कोई फिल्म तो 100 करोड़ पर खुलती है लेकिन उसी अभिनेता की अगली फिल्म सिर्फ पांच करोड़ के साथ शुरुआत करती है. वो कहते हैं, ''मैं ये नहीं चाहता कि एक पारी में तो मैं सैकड़ा जमा दूं और दूसरी पारी में शून्य पर ही आउट हो जाऊं. मैं एक संतुलित पारी खेलना चाहता हूं.''

वैसे इतना कुछ कहने के बाद भी पूरी नहीं हुई है इमरान की बात, वो आगे कहते हैं, ''मैं तो शुरुआत से ही चाहता था कि मैं एक लोकप्रिय अभिनेता बनूं. अपने करियर की शुरुआत में मैंने जैसी फिल्में की उन्होंने मुझे झट से जनता के बीच लोकप्रिय कर दिया. लेकिन अब शंघाई, जन्नत 2 और राज जैसी फिल्मों के साथ मेरा दायरा बड़ा है. अब मल्टीप्लेक्स में आनेवाले दर्शक भी मुझे स्वीकार कर रहे हैं.''

भले ही अब इमरान को ज्यादा दर्शकों की स्वीकृति मिल रही हो लेकिन आज भी 'सीरियल किसर' का टैग उन पर से हटा नहीं है. और इमरान भी इस बात से अनजान नहीं हैं, तभी तो वो कुछ ये कहते हैं, ''मैं मानता हूं कि लोगों की नजरों में मेरी एक खास छवि है और बहुत सारे लोग उस छवि से जुड़े हुए हैं. मुझे याद है मैंने एक फिल्म की थी जिसका नाम था आवारापन. फिल्म बहुत अच्छी थी लेकिन फिल्म में मेरा कोई अंतरंग दृश्य नहीं था. जब मैंने हॉल में ये फिल्म दर्शकों के बीच बैठ कर देखी तो मुझे इस बात का एहसास हुआ कि मेरी फिल्म में ऐसा कोई दृश्य न पाकर दर्शक बड़े निराश हुए. दर्शकों में बैठे कुछ लोगों ने तो यहाँ तक कह डाला कि इमरान हाशमी बीमार हो गया है क्या.''

अब भई आनेवाली फिल्मों में इमरान हाशमी क्या करते हैं और क्या नहीं ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन उनकी तमन्ना लीक से हटकर फिल्में और रोल करने की है. वो कहते हैं, ''मुझे नहीं पता कि फिल्मो में मेरे किसिंग दृश्यों पर लोगों का इतना ध्यान क्यों जाता है. क्या मैं किसिंग सीन के साथ कोई अलग तरह का किरदार नहीं निभा सकता.''

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.