सलमान रुश्दी की मुरीद हुईं दीपा मेहता

 शुक्रवार, 26 अक्तूबर, 2012 को 13:32 IST तक के समाचार
मिडनाइट्स चिल्ड्रन

फिल्मकार दीपा मेहता अब लेखक सलमान रुश्दी की मुरीद हो चुकी हैं.

सलमान रुश्दी ने उनकी फिल्म 'मिडनाइट्स चिल्ड्रन' का स्क्रीन प्ले लिखा है, जो शुक्रवार 26 अक्टूबर को पूरी दुनिया में रिलीज़ हो गई. हालांकि भारत में ये फिल्म इस साल के अंतक तक या 2013 की शुरुआत में रिलीज़ होने की संभावना है.

बीबीसी से रुश्दी के बारे में अपना अनुभव बयां करते हुए दीपा कहती हैं, "सलमान लेखक होने के साथ-साथ ग़जब के स्क्रीनप्ले राइटर भी हैं. उनका द्रष्टिकोण बड़ा व्यापक है और हां उनका हास्य बोध (सेंस ऑफ ह्यूमर) भी कमाल का है."

क्लिक करें क्लिक कीजिए और देखिए तस्वीरें

"सलमान लेखक होने के साथ-साथ ग़जब के स्क्रीनप्ले राइटर भी हैं. उनका द्रष्टिकोण बड़ा व्यापक है और हां उनका हास्य बोध (सेंस ऑफ ह्यूमर) भी कमाल का है."

दीपा मेहता, फिल्मकार

क्या सलमान रुश्दी के साथ उनके फिल्म बनाने के दौरान कोई मतभेद थे. तो दीपा ने कहा, "हां, थोड़े बहुत मतभेद तो थे, लेकिन ज़्यादातर मुद्दों पर हम सहमत थे."

दीपा ने ये भी बताया कि इस फिल्म की शूटिंग काफी मुश्किल थी और इसका अंदाज़ा उन्हें पहले ही हो गया था, इसलिए उन्हें महसूस हुआ कि वक्त आ गया है अपनी फिटनेस पर काम करने का.

दीपा कहती हैं, "ये बहुत ज़रूरी था कि शूटिंग के दौरान मैं पूरी तरह से स्वस्थ रहूं. इसलिए मैंने सिगरेट छोड़ दी. जिम ज्वाइन कर लिया. अब तो मैं दारा सिंह की तरह महसूस करती हूं."


'मिडनाइट्स चिल्ड्रन' इसी साल हुए टोरांटो फिल्म फेस्टिवल में भी दिखाई गई थी. ये फिल्म सलमान रुश्दी के इसी नाम से लिखे एक उपन्यास पर आधारित है. ये उपन्यास भारत के ब्रिटिश राज से आजा़द होने और भारत-पाकिस्तान के विभाजन की घटनाओं पर आधारित है. इस उपन्यास के लिए सलमान रुश्दी को बुकर पुरस्कार भी मिल चुका है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.