सेकंड लीड करने से परहेज़ नहीं: रणबीर कपूर

  • 12 नवंबर 2012
बर्फी

रणबीर कपूर के अब तक के करियर पर नज़र डालें तो मात्र 'राजनीति' ही ऐसी एक फिल्म थी जिसमें उनके साथ और भी कई बड़े नाम शामिल थे. रणबीर की अगर माने तो उन्हें 'मल्टी-स्टारर' फिल्म करने से कोई परहेज़ नहीं है.

रणबीर कहते हैं, ''मैं मुख्य कलाकार और सह-कलाकार जैसी बातों में यकीन नहीं रखता. अगर ऐसा ही होता तो मैं 'राजनीति' क्यों करता. अगर कहानी अच्छी है और मुझे जो किरदार ऑफर किया जा रहा है उसमें दम है तो मैं वो ज़रूर करूंगा.''

मुंबई में अपनी फिल्म 'बर्फी' की डीवीडी लॉच करते हुए रणबीर मीडिया से मुखातिब हुए. 'बर्फी' रिलीज़ होने के बाद से लेकर भारत की ओर से ऑस्कर पुरस्कारों के लिए भेजे जाने तक विवादों में ही रही है.

फिल्म पर विदेशी फिल्मों से दृश्य चोरी करने के आरोप भी लगे. तो इस बात पर रणबीर की क्या राय है?

Image caption बर्फी ने बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की

रणबीर कहते हैं, ''जिसको जो कहना है वो तो कहेगा ही. हमारे लिए तो ये एक 'फर्स्ट-क्लास' फिल्म है. दर्शकों का पूरा प्यार मिला है फिल्म को. फिल्म को हमने बहुत सच्चाई से बनाया है. मुझे पूरी उम्मीद है कि ये फिल्म दुनिया के हर कोने में बैठे दर्शकों को छुएगी. ये फिल्म एक खुशनुमा फिल्म है.''

ऑस्कर की राह

रणबीर तो ये भी उम्मीद लगाए बैठे हैं कि ऑस्कर कमेटी को थोड़ी बुद्धि आए और वो 'बर्फी' का चयन करे.

रणबीर कहते हैं, ''अभी तो 'बर्फी' को सिर्फ भारत ने ऑस्कर में भेजा है. अभी तो ऑस्कर की आखिरी पांच की सूची में आना बाकी है. लम्बा रास्ता है. मैं तो दुआ मांग रहा हूँ कि ऑस्कर वालों को थोड़ी बहुत अक्कल आए और वो हमारी फिल्म को चुन लें.''

अगले साल 5 जनवरी को 85वें ऑस्कर पुरस्कारों की नामांकन सूची जारी की जाएगी.

संबंधित समाचार