पोर्न स्टार हॉलीवुड की मुख्यधारा में कितने सफल?

 रविवार, 25 नवंबर, 2012 को 17:07 IST तक के समाचार

साशा ग्रे, जेम्स डीन और जेना जेम्सन ने पोर्न फिल्मों के बाद मुख्यधारा की फिल्में करने की कोशिश की है

फिल्म अभिनेत्री लिंड्से लोहान की कम बजट वाली आगामी फिल्म 'द केनयन्स' इन दिनों चर्चा में है.

चर्चा की पहली वजह तो ज़ाहिर तौर पर लिंड्से लोहान हैं. दूसरी वजह, पहली वजह से शायद ज्यादा अहम है.

वो ये कि लिंड्से के साथ लीड रोल के लिए जिस अभिनेता को चुना गया है, उनका नाम जेम्स डीन है जो अब तक पोर्न फिल्में करने के लिए खासे चर्चित हैं.

इस फिल्म को पॉल श्रेडर ने निर्देशित किया है जिन्होंने टेक्सी ड्राइवर और रेजिग बुल जैसी जानी-मानी फिल्मों की पटकथा लिखी है. तो क्या इससे ये समझा जाए कि पोर्न सितारों को लेकर हॉलीवुड में नज़रिया बदल रहा है?

बीते पांच दशकों में पोर्न फिल्मों के कुछ अभिनेताओं ने मुख्यधारा के सिनेमा में पैर जमाने की कोशिश की है. इसलिए सवाल उठ खड़ा हुआ कि क्या जेम्स डीन पोर्न से इतर फिल्मों में भी टिक पाएंगे.

"मैं उन्हें लेने का इच्छुक नहीं था, लेकिन उनमें वो करिश्मा है जो दर्शकों को सिनेमाघर तक खींच सकता है."

पॉल श्रेडर, निर्देशक

ब्रिटेन के ही 28 वर्षीय पोर्न अभिनेता कीरान ली कहते हैं, ''पोर्न इंडस्ट्री के बारे में अच्छी बात ये है कि ये मुख्यधारा के सिनेमा में जाने के लिए वो दरवाज़े खोलती है. अब पहले जैसी बात नहीं रही.''

निर्देशक स्टीवन सोडरबर ने पोर्न स्टार साशा ग्रे को फिल्म द गर्लफ्रेंड एक्सपीरियंस में लिया था.

निर्देशक की चिंता

'द केनयन्स' के निर्देशक पॉल श्रेडर एक ऑनलाइन डायरी में जेम्स डीन को लीड रोल में लेने के बारे में अपनी चिंता जता चुके हैं.

वे कहते हैं, ''मैं जेम्स का स्क्रीन टेस्ट लेने का उतना इच्छुक नहीं था. लेकिन मैंने पाया कि जेम्स न सिर्फ अच्छे अभिनेता हैं बल्कि उनमें वो करिश्मा है जो दर्शकों को सिनेमाघर तक खींच सकता है.''

साशा ग्रे

पोर्न स्टार साशा ग्रे ने गर्लफ्रेंड रोमांसिग फिल्म से मुख्यधारा फिल्मों में आने का प्रयास किया

पोर्न और सेक्स जैसे विषयों पर किताब लिखने वाली बोस्टन की समाजशास्त्री गेल डीन्स कहती हैं कि मुख्यधारा के सिनेमा में पोर्न फिल्मों जैसी सामग्री तेज़ी से बढ़ रही है, लेकिन वो पोर्न फिल्म कलाकारों को खपाने के लिए तैयार नहीं है.

वे कहती हैं, ''करीब एक दशक या उससे भी पहले सॉफ्ट पोर्न ने पत्रिकाओं और टीवी पर अपनी जगह बना ली थी. लेकिन पोर्न कलाकार ऐसा नहीं कर सके.''

'हॉलीवुड एक बिज़नेस है'

'ईटस्लीपलिवफिल्म' ब्लॉग के संपादक जॉर्डन मैकग्रा मानते हैं कि ये दुख की बात है कि अच्छे अभिनेता होने के बावजूद पोर्न सितारों को अधिकतर स्टूडियो ऐसा काम नहीं देंगे जिससे पैसा बनाने की संभावना हो.

वहीं फिल्म ट्रेड मैग्ज़ीन स्क्रीन इंटरनेशनल के यूएस एडिटर जेरेमी काए का मानना है कि बड़े फिल्म स्टूडियो व्यावहारिक नजरिए से काम करते हैं.

"हॉलीवुड तो एक बिज़नेस है और स्टुडियो किसी की पिछली ज़िंदगी से मतलब नहीं रखता. चेहरा-मोहरा फिट हो जाता है तो कलाकार को एंट्री मिलती है और उन्हें मौका मिल जाता है."

जेरेमी काए

वे कहते हैं, ''हॉलीवुड तो एक बिज़नेस है और स्टूडियो किसी की पिछली ज़िंदगी से मतलब नहीं रखता. चेहरा-मोहरा फिट हो जाता है तो कलाकार को एंट्री मिलती है और उन्हें मौका मिल जाता है.''

वे कहते हैं कि ऐसी कोई फिल्म यदि अच्छा बिज़नेस करती है या दर्शक उस अभिनेता को पसंद करते हैं तो वे लंबी पारी भी खेल सकते हैं.

वे कहते हैं, ''ये सब इस बात पर निर्भर करता है कि उपभोक्ता किसी उत्पाद के प्रति कैसे प्रतिक्रिया देता है.''

समाजशास्त्री गेल डीन्स भी कहती हैं, ''पुरुष अभिनेताओं के लिए फिर भी राह थोड़ी आसान है क्योंकि वो अपनी फड़कती भुजाओं वाली छवि का फायदा उठा सकते हैं. लेकिन ऐसा कहना भी अभी जल्दबाज़ी होगी.''

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.