मेरी सुई अमिताभ-ऋषि पर अटक गई थी: सुधीर मिश्रा

  • 28 नवंबर 2012
सुधीर मिश्रा
Image caption सुधीर लीक से हटकर सिनेमा के लिए जाने जाते हैं.

निर्देशक सुधीर मिश्रा की फिल्म 'मेहरुनिसा' में एक बार फिर साथ में नज़र आएंगे अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर. ये दोनों कलाकार आखरी बार साल 1991 में आई फिल्म 'अजूबा' में साथ नज़र आए थे.

गोवा फिल्म महोत्सव के दौरान सुधीर मिश्रा ने बीबीसी से बात की और पूछा कि क्या इन दो अभिनेताओं को साथ में लाना एक वाकई मुश्किल काम था?

इस सवाल का जवाब देते हुए सुधीर बोले, ''बात मुश्किल या आसान होने की नहीं है. अगर आपकी स्क्रिप्ट में दम है तो आपके साथ लोग जुड़ ही जाते हैं. मुझे तो अपनी फिल्म के लिए अमिताभ और ऋषि ही चाहिए थे. मैं तो अटक ही गया था इन दो पर. इनके बगैर ये फिल्म मुमकिन ही नहीं थी. फिलहाल मुझे इस बात की ख़ुशी भी है की ये मेरी फिल्म कर रहे हैं और थोडा डर भी लग रहा है.''

सुधीर का डर

शायद सुधीर के डर की वजह ये भी है कि वो अमिताभ बच्चन को एक बहुत बड़ा एक्टर मानते हैं. वो कहते हैं, ''बच्चन साहब बहुत बड़े कलाकार हैं. अमिताभ बच्चन के व्यक्तित्व के और भी कई मायने हैं. उनके बारे में मैं कुछ भी कहने वाला कौन होता हूं. उन्होंने मेरी फिल्म में काम करना इसलिए मंज़ूर किया क्योंकि उन्हें इस फिल्म में कुछ नया लगा. इस फिल्म को लेकर मैं बहुत आश्वस्त हूं.''

सुधीर मिश्रा ये भी कहते हैं कि उन्होंने फिल्म की जो कहानी लिखी है उसमें अमिताभ अपने अभिनय से चार चांद लगा देंगे. लेकिन सुधीर साथ ही ये भी मानते हैं कि अब ये उनकी ज़िम्मेदारी होगी कि वो अपने कलाकारों को बेहतरीन माहौल दें और शूटिंग अच्छी तरीके से हो.

Image caption अमिताभ सुधीर मिश्रा के साथ पहली बार काम करेंगे.

अमिताभ बच्चन की तारीफ करने से अभी भी नहीं भरा है सुधीर मिश्रा का दिल. अपनी बात को जारी रखते हुए वो कहते हैं, ''अमित जी में यही तो कमाल की बात है कि वो इतने सालों से सिनेमा का हिस्सा है और आज भी वो अपने काम को लेकर, अपनी कला को लेकर अति उत्साहित रहते हैं. ऋषि कपूर में भी यही बात है. इन लोगों का अपने काम से जो इश्क है वो आज भी बरकार है. ये बड़ी बात है कि इस उम्र में भी वो नई चुनौतियों के लिए तैयार हैं.''

अमिताभ-ऋषि की एक और ख़ासियत

इन दोनों कलाकारों की एक और खासियत को सबके सामने रखना चाहते हैं सुधीर.

वो कहते हैं, ''चाहे अमिताभ हो या ऋषि दोनों ही ज़मीन से जुड़े हुए हैं. मैंने तो ऐसे ऐसे लोग देखे हैं जो जिनके अंदाज़ दो फिल्में करते ही बदल जाते हैं. ये लोग तो इतने सालों से काम कर रहे हैं और आज भी इतने मासूम हैं. आज भी मेहनत करने से नहीं हिचकिचाते और यही बात उन्हें बड़ा बनाती है.''

अमिताभ और ऋषि के बारे में तो खूब बात हो गई अब ज़रा ये जान लें कि 'मेहरुनिसा' है किस बारे में?

सुधीर की अगर माने तो ये फिल्म एक सपने के बारे में है. एक अधूरे ख्वाब की कहानी है मेहरुनिसा. फिल्म में एक लड़की का नाम भी है मेहरुनिसा. जब सुधीर ने इस फिल्म की घोषणा की थी तो कहा जा रहा था की 'मेहरुनिसा' एक पीरियड फिल्म है. क्या ये सच है?

सुधीर कहते हैं, ''मेहरुनिसा पीरियड फिल्म नहीं है. फिल्म में अमिताभ और ऋषि के साथ साथ चित्रांगदा सिंह भी हैं. फिल्म की शूटिंग अगले साल अप्रैल महीने से लखनऊ में शुरू हो जाएगी.''

संबंधित समाचार