ऐपल का आईट्यून स्टोर अब भारत में भी

  • 4 दिसंबर 2012
आईट्यून का वेबपेज
Image caption हिंदी और तमिल फ़िल्मों का संगीत अब आईट्यून पर उपलब्ध

ऐपल ने अपने आईट्यून स्टोर के दरवाजे भारत के लिए खोल दिए हैं. दरअसल आईट्यून एक ऐप है जिसके ज़रिए आप संगीत या फ़िल्में अपने कंप्यूटर पर देख सकते हैं.

इंटरनेट पर होने की वजह से इस स्टोर के उत्पाद हर समय उपलब्ध रहते हैं.

जानकारों का मानना है कि वैध तरीके से इंटरनेट के ज़रिए संगीत और फ़िल्में ख़रीदने या किराए पर लेने से संबंधित ये एक बड़ा अहम क़दम है.

आईट्यून पर सात रुपए लेकर 15 रुपए तक में एक गाना ख़रीदा जा सकता है जबकि किसी भी फ़िल्म या कलाकार की एल्बम की कीमत 70 रुपए से शुरु हो रही है.

साथ ही इस ऑनलाइन स्टोर पर अब फ़िल्में भी उपलब्ध हैं. हाल में आई सलमान ख़ान अभिनित फ़िल्म ‘एक था टाइगर’ 490 रुपए में बिक रही है और इस फ़िल्म 120 रुपए में किराए पर भी लिया जा सकता है.

कुछ पुरानी फ़िल्में जैसे काला पत्थर, नूरी और दाग़ आदि भी ख़रीदी या किराए पर ली जा सकती हैं.

'आईट्यून मैच'

ऐपल ने भारत में ‘आईट्यून मैच’ नाम की सेवा भी शुरू की है जिसके अनुसार उपभोक्ता अन्य सूत्रों से हासिल किए गए संगीत को आईट्यून के ‘क्लाउड’ प्लेटफॉर्म पर स्टोर कर सकते हैं.

इस सेवा को पाने के लिए ग्राहकों को 1200 रुपए प्रति वर्ष देने होंगे.

अब तक आईट्यून के भारतीय संस्करण में सिर्फ़ मुफ़्त पॉडकास्ट और किताबें ही उपलब्ध थीं.

लेकिन अब भारतीय आईट्यून स्टोर पर हिंदी और तमिल फ़िल्मी गीतों के अलावा अंतरराष्ट्रीय संगीत भी उपलब्ध रहेगा.

भारतीय बाज़ार में संगीत की पाइरेसी एक बड़ी चिंता है. और ऐसे आईट्यून अपनी इस पहल में कितना कामयाबी होता है ये देखना होगा.

कुछ भारतीय वेबसाइट पर लोग मुफ़्त में संगीत सुन सकते हैं और साथ ही कुछ विदेशी विशेषकर पाकिस्तानी वेबसाइट पर ये संगीत सुना या डाउनलोड किया जा सकता है.

इसके अलावा भारत के बड़े शहरों में फ़िल्मों और फ़िल्मी संगीत के पाइरेट्ड सीडी कौड़ियों के भाव मिलते हैं. हांलाकि इनकी गुणवत्ता काफ़ी निम्न स्तरीय होती है.

संबंधित समाचार