मिडनाइट्स चिल्ड्रन को मिली हरी झंडी

 शुक्रवार, 14 दिसंबर, 2012 को 13:23 IST तक के समाचार
मिडनाइट्स चिल्ड्रन

भारतीय मूल की कनाडाई फिल्मकार दीपा मेहता के लिए अच्छी खबर है. उनकी बहुचर्चित फिल्म 'मिडनाइट्स चिलड्रन' को सेंसर बोर्ड ने भारत में रिलीज़ करने की अनुमति दे दी है. और अहम बात ये है कि फिल्म को बिना किसी काट-छांट के भारत में रिलीज़ किया जा सकेगा.

मिडनाइट्स चिल्ड्रन

  • सेंसर बोर्ड ने पास की फिल्म
  • फरवरी में रिलीज़ होगी भारत में
  • सलमान रश्दी के उपन्यास पर आधारित
  • भारत-पाकिस्तान के विभाजन की कहानी

सेंसर बोर्ड ने फिल्म में कोई कट नहीं किया है. खुद दीपा मेहता ने ट्विटर पर ये जानकारी दी.

ये फिल्म सलमान रश्दी के उपन्यास 'मिडनाइट्स चिल्ड्रन' पर आधारित है. भारत में ये फिल्म फरवरी में रिलीज़ होगी. हाल ही में इस फिल्म को केरल में चल रहे 17वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिखाया गया. फिल्म की शूटिंग श्रीलंका में की गई है. फिल्म की कहानी भारत के विभाजन से शुरू होती है. 15 अगस्त 1947 के दिन पैदा हुए दो बच्चों के माध्यम से कहानी आगे बढ़ती है.

फिल्म फेस्टिवल में स्क्रीनिंग

ये फिल्म टोरांटो, वैंकूवर और लंदन फिल्म फेस्टिवल में भी दिखाई जा चुकी है. फिल्म की राजनैतिक पृष्ठभूमि होने की वजह से इसका कुछ लोग विरोध कर रहे थे.

इसी डर की वजह से शुरुआत में फिल्म को भारत में कोई वितरक भी नहीं मिल रहा था. बाद में पीवीआर पिक्चर्स ने इसके वितरण अधिकार खरीदे और अभ इसे फरवरी में भारत में रिलीज़ किया जा सकेगा.

फिल्म में श्रेया सरन, सिद्धार्थ, अनुपम खेर, शबाना आज़मी, सीमा बिस्वास, राहुल बोस, सोहा अली खान और दर्शील सफारी की मुख्य भूमिका है.

बीबीसी से एक खास बातचीत में दीपा ने बताया था कि फिल्म का ऑफर उन्होंने व्यवसायिक सिनेमा के कुछ बड़े कलाकारों को भी दिया था, लेकिन उनकी फीस इतनी ज़्यादा थी कि वो उन्हें फिल्म में ना ले सकीं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.