बुरे दिन भी याद हैं मनोज वाजपेयी को

 मंगलवार, 22 जनवरी, 2013 को 15:10 IST तक के समाचार
मनोज वाजपेयी,अभिनेता

मनोज के मुताबिक एक वक्त न्यूज़ चैनल भी उन्हें भाव नहीं देते थे.

"जब भी मैं किसी पार्टी में जाता था तो न्यूज़ चैनल के कैमरे गल्ती से मेरी तरफ आ भी जाते थे तो झटके से हटा लेते थे."

अपने बुरे दौर को कुछ इस तरह बयां किया अभिनेता मनोज वाजपेयी ने.

गए साल आई फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर में अपने दमदार अभिनय के लिए तारीफ बटोरने वाले मनोज वाजपेयी ने बीबीसी से बातचीत में कहा "फिल्म राजनीति से पहले का दौर काफी लो था मेरे लिए.सबका रवैया मैं देखता था पर मुझे बुरा नहीं लगता था,सोचता था कि हमारा भी समय आएगा."

"जब अच्छा वक्त आता है तो वही लोग जब फिर से आपके पास आते हैं तो कोई मलाल नहीं होता.मानकर चलिए कि ये हर बार होता रहेगा.अमिताभ बच्चन के साथ हुआ है तो किसी के भी साथ हो सकता है"

मनोज वाजपेयी,अभिनेता

मनोज कहते हैं "जब अच्छा वक्त आता है तो वही लोग जब फिर से आपके पास आते हैं तो कोई मलाल नहीं होता.मानकर चलिए कि ये हर बार होता रहेगा.अमिताभ बच्चन के साथ हुआ है तो किसी के भी साथ हो सकता है."

फिर आएगा उतार

आने वाली फिल्म स्पेशल छब्बीस में एक सीबीआई अफसर की भूमिका निभा रहे मनोज के मुताबिक "अभी जो समय है जब सब लोग मेरी फिल्मों की बात कर रहे हैं ये ज्यादा दिन नहीं चलेगा.कुछ समय के लिए फिर से उतार आएगा.ये जीवन का सत्य है जिसे मैं मानकर चलता हूं."

अपने परिवार की बात करते हुए मनोज कहते हैं "अब खुशी इस बात की होती है कि मेरी बेटी उस समय पल रही है जब मेरा अच्छा समय है. बस अपने करियर में अच्छा करता रहूं तो उसे भी देखने को मिल जाएगा.अब उछाले नहीं मारता हूं बस काम करता हूं."

जब कटरीना पैर छूती है

कैसा लगता है जब कटरीना कैफ और तब्बू जैसी अदाकार आपके पैर छूती हैं? इस सवाल पर मनोज ने हंसते हुए कहा "ये कटरीना और तब्बू की ऐसी हरकत थी कि मैं बड़ा शर्मा गया. क्योंकि मैं इतना बुज़ुर्ग हुआ नहीं हूं तब उन्होंने कहा कि मेरे काम के लिए उन्होंने ऐसा किया था."

मनोज के मुताबिक ये इन लोगों का बड़प्पन है जो इतना सम्मान देते हैं. लगता है शायद काम को अच्छे से निभाया है तभी इतने बड़े लोगों से इज़्जत मिलती है.

मनोज की अगली फिल्म 'स्पेशल छब्बीस' 8 फरवरी को रिलीज होगी. इसके अलावा मनोज 'शूट आउट एट वडाला' में भी अहम रोल में नज़र आएंगे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.