कैंसर के डर से एंजलीना ने हटवाए अपने स्तन

एंजलीना जॉली को कैंसर
Image caption एंजलीना ने न्यूयॉर्क टाइम्स में लेख लिखा है और कैंसर के जोखिम की बात दुनिया को बताई है

हॉलीवुड अभिनेत्री एंजलीना जोली ने स्तन कैंसर से बचने के लिए एक ऑपरेशन कराया है.

उन्हें प्रिवेन्टिव डबल मासटेकटॉमी ऑपरेशन से गुजरना पड़ा है जिसमें कैंसर से बचने के लिए दोनों स्तनों को आंशिक या फिर पूरी तरह हटा दिया जाता है.

37 वर्षीय एंजलीना ने न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित अपने लेख में ये सर्जरी कराने की बात कही है और इसकी वजह भी बताई है.

न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित एंजलीना जोली का लेख

एंजलीना ने कहा कि उनके डॉक्टरों का अनुमान है कि उन्हें स्तन कैंसर होने का जोखिम 87 प्रतिशत और अंडाशय कैंसर होने का जोखिम 50 प्रतिशत है.

'मेरी सच्चाई'

उन्होंने कहा कि मासटेकटॉमी की प्रक्रिया फ़रवरी में शुरू हुई और अप्रैल के आखिर में पूरी हो गई.

'माई मेडिकल चॉइस' शीर्षक से लिखे लेख में एंजलीना ने बताया कि उनकी मां लगभग एक दशक तक कैंसर से लड़ती रहीं और 56 वर्ष की उम्र में इसी बीमारी से उनकी मौत हुई.

एंजलीना के अनुसार वो चाहती हैं कि ये बीमारी उनके बच्चों से उनकी मां को न छीन पाए, “लेकिन ये सच्चाई है कि मेरे शरीर में एक खराब जीन बीआरसीए1 है जो स्तन कैंसर या अंडाशय कैंसर के खतरे को बहुत बढ़ा देता है.”

उन्होंने कहा कि एक बार जब उन्हें “अपनी सच्चाई” के बारे में पता चला तो उन्होंने डबल मासटेकटॉमी की नौ हफ्तों तक चलने वाली प्रक्रिया से गुजरने का फैसला किया.

कम हुआ खतरा

एंजलीना के अनुसार डबल मासटेकटॉमी कराने के बाद उन्हें कैंसर होने का जोखिम 87 प्रतिशत से घट कर 5 प्रतिशत रह गया है.

उन्होंने ने अपनी डबल मासटेकटॉमी के दौरान प्यार और समर्थन के लिए अपने पार्टनर ब्रैड पिट की तारीफ की.

Image caption एंजलीना ने अपना साथ देने के लिए ब्रैड पिट की तारीफ की है

साथ ही उन्होंने ये विश्वास जताया है कि ऑपरेशन के बाद उनके बच्चों को किसी तरह की असहजता नहीं होगी.

वो कहती हैं, “मैं खुद को मजबूत महसूस कर रही हूं कि मैंने ये फैसला लिया और इससे मेरे स्त्रीत्व में किसी तरह की कमी नहीं आई है.”

एंजलीना आगे लिखती हैं, “जो भी महिला इसे पढ़ेगी, मुझे उम्मीद है कि उसे पता चलेगा कि उसके पास विकल्प हैं.”

उनके अनुसार, “मैं हर महिला को प्रोत्साहित करना चाहती हूं, खास तौर से उन्हें जिनके परिवार में स्तन कैंसर का इतिहास रहा है. मैं चाहती हूं कि वो इस बारे में जागरुक बनें और चिकित्सा विशेषज्ञों से मिलें जो उनकी जिंदगी के इस पहलू पर मददगार साबित हो सकते हैं. इसके बाद वो अपनी पसंद से फैसला करें.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार