कहां गए 'केबीसी' के वो पहले करोड़पति

अमिताभ बच्चन और हर्षवर्धन नवाथे
Image caption अमिताभ बच्चन के साथ हर्षवर्धन नवाथे और उनका परिवार

साल 2011 में मशहूर गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' में पांच करोड़ रुपए जीतने वाले सुशील कुमार अब भी लोगों के ज़ेहन में ताज़ा हैं.

इतनी बड़ी राशि जीतने वाले वो इस गेम शो के इकलौते प्रतियोगी जो थे. उसके बाद उन्हें कई विज्ञापनों में भी काम करने का मौका मिला और डांस रियलिटी शो 'झलक दिखला जा' में भी उन्होंने हिस्सा लिया.

लेकिन क्या आपको पता है कि इस गेम शो में पहली बार एक करोड़ रुपए यानी 'कौन बनेगा करोड़पति' के पहले करोड़पति हर्षवर्धन नवाथे कहां हैं और क्या कर रहे हैं.

13 साल पहले साल 2000 में 'कौन बनेगा करोड़पति' में हर्षवर्धन ने सभी 15 सवालों के सफलतापूर्वक जवाब देकर एक करोड़ रुपए का इनाम जीता था.

'कौन बनेगा करोड़पति' का सातवां संस्करण शुरू होने को है. हमने इस मौके पर सोचा कि हर्षवर्धन से बात की जाय.

काफी प्रयासों के बाद उनका नंबर मिला और बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ. पेश है उनसे बातचीत के कुछ चुनिंदा अंश उन्हीं के शब्दों में.

'अब भी याद ताज़ा है'

Image caption साल 2007 में हर्षवर्धन ने शादी की. उनके दो बेटे हैं.

13 साल पहले मैंने ये कारनामा किया था लेकिन जब भी टीवी पर 'कौन बनेगा करोड़पति' का प्रोमो देखता हूं या ये कार्यक्रम देखता हूं तो मुझे वो दिन याद आ जाते हैं कि मैंने कैसे तैयारी की थी. कैसे सारे सवालों के जवाब दिए थे. कैसे मेरी मुलाक़ात मिस्टर अमिताभ बच्चन से हुई थी. सब याद आता है.

सेट पर हम सभी प्रतियोगी बैठे थे और अपने ख़ास अंदाज़ में चलते हुए अमिताभ बच्चन आए. वो सेट, वो लाइट्स सब कुछ याद आता है.

अद्भुत हैं अमिताभ

मैं 'केबीसी' का एक प्रतियोगी रह चुका हूं. तो मुझे मालूम है कि एक मेज़बान के तौर पर अमिताभ बच्चन का काम कितना कठिन होता है.

शो में उन्हें लाइव ऑडियेंस को संभालना पड़ता है. फिर शो प्रस्तुत करना होता है. प्रतियोगी की घबराहट भी दूर करनी होती है. बीच-बीच में वो चुटकुले भी सुनाते हैं लेकिन वक़्त रहते उससे वापस आकर दोबारा सवालों पर फ़ोकस करते हैं.

मैं इनाम जीतने के बाद उनसे कई बार मिला. पूरी आत्मीयता से मुझसे और मेरे परिवार से मिलते हैं. मैं उनका ज़बरदस्त प्रशंसक हूं.

'पहला करोड़पति तो मैं ही हूं'

Image caption अपने पिता और बेटे के साथ हर्षवद्धन नवाथे

सुशील कुमार ने शो में पांच करोड़ जीते और मेरा रिकॉर्ड टूटा. मुझे इसका कोई ग़म नहीं है क्योंकि रिकॉर्ड तो बनते ही टूटने के लिए हैं.

लेकिन एक बात जो कोई बदल नहीं सकता. और वो ये है कि मैं 'कौन बनेगा करोड़पति' का पहला करोड़पति हूं. कोई मुझसे ये ख़िताब नहीं छीन सकता.

मैं एक बात और बताना चाहता हूं कि एक बार जो शख़्स हॉट सीट तक पहुंच जाता है उसे दोबारा हॉट सीट तक पहुंचाने का मौक़ा नहीं मिलता. चाहे उसने एक करोड़ रुपए जीते हैं या कुछ भी ना जीता हो.

इसलिए केबीसी में मैं दोबारा हिस्सा नहीं ले सकता. नियम ऐसे ही हैं.

हालांकि अपने काम की वजह से मैं बहुत व्यस्त रहता हूं लेकिन कोशिश करता हूं कि जब भी मौका मिले मैं ये शो ज़रूर देखता हूं.

'टूटा आईएएस बनने का सपना'

Image caption छोटे बेटे के साथ हर्षवर्धन. वो कहते हैं कि कौन बनेगा करोड़पति की वजह से उनका आईएस बनने का सपना अधूरा रह गया लेकिन उन्हें इसका कोई अफ़सोस भी नहीं है.

इस कार्यक्रम में जब मैं गया तो 27 साल का था. मैं आईएएस की तैयारियां कर रहा था.

लेकिन शो के बाद पैसा और फ़ेम मिला. मेरी तैयारियों का सिलसिला टूटा और मैं आईएएस नहीं बन पाया. तो कह सकते हैं कि 'केबीसी' में जीतता नहीं तो शायद आईएएस बन जाता, लेकिन फिर भी मुझे कोई अफ़सोस नहीं है.

मैं लोगों की भलाई के लिए काम करना चाहता था और मेरा मौजूदा जॉब इसी तरह का है. मैं किसानों की भलाई से जुड़े एक कार्यक्रम में अपनी सेवाएं दे रहा हूं.

कैसे इस्तेमाल किया पैसा

'कौन बनेगा करोड़पति' की इनामी राशि ने मेरे जीवन पर बड़ा असर डाला. मैंने अपने पैसों से मुंबई में घर लिया. गाड़ी ख़रीदी. एमबीए करने ब्रिटेन गया.

उसके बाद कॉर्पोरेट कंपनीज़ में नौकरी की. फिर कई एनजीओ से भी जुड़ा. मैंने ख़ासा पैसा निवेश भी किया.

साल 2007 में मैंने शादी की. मेरी पत्नी सारिका एक मराठी टीवी और फ़िल्म अभिनेत्री हैं. हमारे दो बेटे हैं. मैं मुंबई के सायन इलाके में अपनी बीवी-बच्चों और मां-बाप के साथ रहता हूं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)