'कुछ-कुछ होता है' बेहूदा कहानी थी: करण जौहर

करण जौहर
Image caption करण जौहर मानते हैं कि 'कुछ-कुछ होता है' कि कहानी मूर्खतापूर्ण थी.

करण जौहर ने अपनी ही सुपरहिट फ़िल्म का उड़ाया मज़ाक, सलमान ख़ान किसके बनेंगे मेहमान और 'ग्रैंड मस्ती' ने आलोचना के बाद भी गाड़े झंडे. मनोरंजन जगत की हलचल आज मुंबई डायरी में.

'बेहूदा लगती है कुछ-कुछ होता है'

करण जौहर की बतौर निर्देशक पहली फ़िल्म 'कुछ कुछ होता है' सुपरहिट रही और इसने रातों रात करण को सुपरहिट निर्देशक के तौर पर स्थापित कर दिया.

लेकिन फ़िल्म की रिलीज़ के 15 साल बाद करण, मानते हैं कि फ़िल्म की कहानी बेहूदा थी. इरफ़ान की फ़िल्म 'लंचबॉक्स' से करण जौहर जुड़े हैं और इसी फ़िल्म के प्रमोशन पर उन्होंने मीडिया से ये बात कही.

करण कहते हैं, "हर फ़िल्म एक नई ग़लती होती है. अब मैं 'कुछ-कुछ होता है' देखता हूं तो मुझे इसकी कहानी मूर्खतापूर्ण लगती है. 'कभी ख़ुशी कभी ग़म' देखता हूं तो लगता है फ़िल्म 35 मिनट लंबी थी. 'स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर' में और ज़्यादा इमोशन होने चाहिए थे. इसलिए हर फ़िल्म आपको कुछ ना कुछ सिखाती है."

वैसे 'लंच-बॉक्स' की बात करें तो फ़िल्म के मुख्य कलाकार इरफ़ान हैं और इसे भारत में रिलीज़ कराने में करण जौहर का धर्मा प्रोडक्शन सहयोग कर रहा है.

फ़िल्म 20 सितंबर को भारत में रिलीज़ हो रही है.

करण की कॉफी पिएंगे सलमान !

करण जौहर के सुपरहिट चैट शो कॉफ़ी विद करन में अमिताभ बच्चन, शाहरुख़ ख़ान समेत कई हस्तियां आ चुकी हैं. लेकिन इसमें अब तक सलमान ख़ान नहीं आए हैं.

ख़ुद करण जौहर ने कई बार कहा कि वो सलमान को शो में अपना मेहमान बनाना चाहते हैं. अब लगता है करण की ये तमन्ना पूरी होने वाली है.

चर्चा है कि इस शो के अगले सीज़न के पहले एपिसोड में सलमान ख़ान आ सकते हैं. लेकिन कथित तौर पर सलमान ख़ान ने ये शर्त रखी है कि इस एपीसोड में उनके अलावा कोई और मेहमान नहीं होगा.

'ग्रैंड मस्ती' की धूम

Image caption 'ग्रैंड मस्ती' ने रिलीज़ के तीन दिनों में ही 40 करोड़ रुपए कमा लिए.

इंद्र कुमार निर्देशित एडल्ट कॉमेडी 'ग्रैंड मस्ती' को आलोचकों ने भले ही नकार दिया हो लेकिन बॉक्स ऑफ़िस पर इस फ़िल्म ने धूम मचा दी.

रितेश देशमुख, विवेक ओबेरॉय और आफ़ताब शिवदासानी की मुख्य भूमिका वाली इस फ़िल्म ने रिलीज़ होने के पहले तीन दिनों में ही तक़रीबन 40 करोड़ रुपए की कमाई की और इस साल पहले सप्ताहांत में सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फ़िल्मों की सूची में चौथे नंबर पर आ गई है.

फ़िल्म की विषय वस्तु और संवादों को कई समीक्षकों ने बचकाना और अश्लील करार दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)