सोनाली और सुमंत: ग़रीबी से ग्लैमर तक

सोनाली और सुमंत

सोनाली मजुमदार और महाराजू सुमंत की जो़ड़ी भले ही 'झलक दिखला जा' के छठें सीज़न में विजेता न बन पाई हो लेकिन उन्होंने अपने डांस से जानी-मानी हस्तियों समेत सभी का दिल जीत लिया.

नौ वर्षीय सोनाली और पंद्रह वर्षीय सुमंत की जोड़ी डांस टैलेंट हंट शो 'झलक दिखला जा' में सेकेंड रनर अप रही है. 'इंडिया गॉट टैलेंट' का ख़िताब ये जोड़ी पहले ही जीत चुकी है.

सोनाली और सुमंत बेहतरीन डांसर हैं यह तो सब जानते हैं कि लेकिन अच्छा डांसर बनने के पीछे छुपी उनकी कड़ी मेहनत के बारे में कम लोग जानते हैं.

'झलक दिखला जा' में सेकेंड रनर अप आने के बाद सोनाली ने कहा, "मेरे लिए यह सब किसी सपने से कम नहीं है."

सोनाली का गाँव 'बकता' कोलकाता से पाँच घंटे की दूरी पर बांग्लादेश सीमा के पास है.

वो कहती हैं, "इस छोटे से गाँव में न तो बिजली की सुविधा थी और न ही अच्छे स्कूल की. हमारे परिवार की आर्थिक स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं थी."

अपने परिवार के बारे में सोनाली कहती हैं, "मेरे पिता किसान हैं और प्रतिदिन वो 80 रुपए कमाते थे और मेरी माँ हमारा घर पर ही रह कर ध्यान रखती थीं. हमारे पास ढंग का घर भी नहीं था मिट्टी के घर में रहते थे. मुझे डांस करने का शौक बचपन से ही था. मेरे पिताजी के पास इतने पैसे नहीं थे की मुझे अच्छे डांसिंग स्कूल में डाल सकें. जब कभी भी गाँव में बिजली रहती थी तो मैं अपनी छोटी सी टीवी में माधुरी दीक्षित का डांस देखती थी और उससे सीखने की कोशिश करती थी."

गाँव से कोलकाता

सोनाली बताती हैं, "मेरे गाँव में एक भैया थे जो डांस सीखने के लिए बिवास सर के पास जाया करते थे. मैंने उनसे कहा कि एक बार मुझे भी ले चलो. पहले तो बिवास सर मुझे डांस ट्रेनिंग देने के लिए नहीं तैयार नहीं हुए. उन्होंने मेरे ऑडिशन लिया. मैं अच्छा डांस कर सकती हूँ, ये देखकर उन्होंने मुझे अपने डांसिंग स्कूल में भर्ती कर लिया. बिवास सर ने फीस के तौर पर मुझसे एक भी पैसा नहीं लिया."

सोनाली ही की तरह सुमंत भी एक साधारण परिवार से आते हैं. उनके पिता चतुर्थ श्रेणी के रेलवे कर्मचारी हैं.

अपने पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में सुमंत बताते हैं, "मेरे माता-पिता के पास इतने पैसे भी नहीं थे कि मुझे अच्छे से स्कूल में डाल सकें. उनके पास मुझे ऑडिशन देने के लिए एक शहर से दूसरे शहर भेजने के लिए भी पैसे नहीं थे. हमारे पास घर नहीं था हम रेलवे के दिए हुए घर में रहते थे."

सुमंत कहते हैं, "मैं बिवास सर के पास आया और अपना ऑडिशन दिया. मेरा डांस देख उन्होंने मुझे अपने डांसिंग स्कूल में एडमिशन दे दिया."

कोलकता से मुम्बई

सुमंत कहते हैं, "हमने कभी नहीं सोचा था की मुंबई आने के बाद हमारी ज़िन्दगी इस कदर बदल जाएगी. हमने बहुत मेहनत की और दर्शकों ने हमें इंडिया गॉट टैलेंट का खिताब जिता दिया. इसके बाद तो हमने कभी पीछे मुड कर ही नहीं देखा."

सोनाली बताती हैं, "मेरे माता-पिता को मेरा जीतना एक सपने जैसे लगा. हमने कभी नहीं सोचा था की हम जैसे बच्चे भी कुछ कर पायेंगे. जब मैं जीती तो मेरे माता-पिता की आँखों से ख़ुशी के आंसू निकल गए.

इंडिया गॉट टैलेंट में जीतने के बाद सोनाली और सुमंत वापस कोलकाता चले गए.

सुमंत बताते हैं, "8 महीने बाद हमें बिवास सर का फ़ोन आया. उन्होंने हमें बताया कि हमें 'झलका दिखला जा' (सीज़न-6) में भाग लेना है. ये सुन कर हम दोनों बहुत खुश हुए. 'झलका दिखला जा' एक सेलिब्रिटी डांस शो है जहाँ जानी मानी हस्तियाँ भाग लेती हैं. हम लोग तो बस एक डांसर हैं लेकिन हम जैसे लोगों को मौका मिला ये हमारा सौभाग्य है."

डांस और शिक्षा

'झलक दिखला जा' के लिए सुमंत और सोनाली ने जबरदस्त मेहनत की.

सुमंत कहते हैं, "सोनाली और मैं 6 से 8 घंटे डांस की प्रैक्टिस करते हैं और 4 घंटे पढ़ते हैं. हम जानते हैं कि शिक्षा बहुत जरूरी है इसलिए मैंने और सोनाली ने प्राइवेट ट्यूशन लेना शुरू कर दिया है. हमें लगातार स्कूल जाने की जरूरत नहीं पड़ती. साल में 2 बार परीक्षा देनी पड़ती है. मैं दसवीं में पढ़ता हूँ और सोनाली पाँचवी में."

सोनाली और सुमंत कहते हैं कि 'झलक दिखला जा' में वे कई जानी-मानी हस्तियों से मिले, कई हीरो हीरोइनों से भी मिले. इन लोगों से मिलना उनके लिए किसी खूबसूरत सपने से कम नहीं था.

सुमंत बताते हैं कि इस शो के जरिए वो सलमान खान, ऋतिक रोशन, शाहरुख़ खान जैसे कई कलाकारों से मिले.

सुमंत कहते हैं, "मुझे कोई भी हीरोइन अच्छी नहीं लगी. हीरो में मैं सलमान खान और हृतिक रोशन का डांस और स्टाइल कॉपी करने का कोशिश करता हूँ"

वहीं सोनाली कहती हैं, "बड़ी होकर मैं माधुरी दीक्षित जैसी बड़ी डांसर बनना चहती हूँ और डांस करते वक़्त चेहरे पर उनके जैसे ही एक्सप्रेशन लाना चाहती हूँ."

'झलक दिखला जा' सीज़न-6 न जीतने का सोनाली और सुमंत को बहुत दुःख हुआ. हारने के बाद वो रोए भी.

सोनाली कहती हैं, "'झलक दिखला जा' (सीज़न-6) से हमें एक अच्छा प्लेटफार्म और चांस मिला और अब हम और मेहनत करना चाहेंगे. हम वर्ल्ड फेमस डांसर बनना चाहते हैं. हम इंटरनेशनल लेवल पर डांस करने के लिए बाहर जाकर हम अपने देश का नाम रोशन करना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार